दुबई शासक की छठी बीवी गुम,ले गई 271 करोड़

यूएई के प्रधानमंत्री व उपाध्यक्ष (शाह) शेख मुहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की छठी बेगम प्रिंसेस हया अल हुसैन से शेख के‌ रिश्ते इन‌ दिनों ठीक नहीं चल रहे थे.दुबई के शासक की छठी बीवी हुई गुम, साथ ले गई 271 करोड़ रुपयेजमर्नी और यूएई के रिश्ते प्रिंसेस हया अल हुसैन की चलते बिगड़ सकते हैं.

 दुबई के अरबपति शासक की छठी पत्नी (रानी) प्रिंसेस हया अल हुसैन करोड़ों रुपये और दोनों बच्चों को लेकर संयुक्त अरब अमीरात (UAE) से लापता हो गई हैं. ऐसा बताया जा रहा है कि वह घर छोड़ते वक्त अपने साथ करीब 31 मिलियन पाउंड (271 करोड़ रुपये से ज्यादा) लेकर गई हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यूएई के प्रधानमंत्री व उपाध्यक्ष (शाह) शेख मुहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की छठी बेगम प्रिंसेस हया अल हुसैन से शेख के‌ रिश्ते इन‌ दिनों ठीक नहीं चल रहे थे. शुरुआती जानकारी में प्रिंसेस हया अल हुसैन के इंग्लैंड की राजधानी लंदन में छिपे होने की आशंका जाहिर की गई है.
दुनिया के सबसे अमीर शख्‍सियतों में एक हैं दुबई के शेख
जॉर्डन के किंग अब्दुलाह (शाह या राजा) की सौतेली बहन प्रिंसेस हया अल हुसैन अब अपने शौहर से तलाक लेना चाहती हैं. जानकारी के अनुसार दुबई से निकलकर प्रिंसेस हया अल हुसैन जर्मनी में बसना चाहती हैं. उन्होंने जर्मनी की सरकार से अपने बच्चों जालिया (11 साल) और जायद (सात साल) संग रहने के लिए राजनीतिक शरण मांगी है.


कई रिपोर्ट्स में यह दावा किया जा रहा है कि नई जिंदगी शुरू करने के लिए प्रिंसेस हया अल हुसैन अपने साथ ठीक-ठाक मात्रा में पैसा लेकर आई हैं. उन्हें पैसों को लेकर संघर्ष नहीं करना पड़ेगा.

बताया जाता रहा है कि प्रिंसेस हया अल हुसैन पश्चिमी देशों से काफी रूबरू हैं, क्योंकि उन्होंने इंग्लैंड की ही ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की थी. इसके बाद से वह सोशल वर्क में लग गई थीं.

बीती फरवरी के बाद उन्हें किसी सार्वजनिक कार्यक्रम या फिर सोशल मीडिया अकाउंट पर भी नहीं देखी जा रही हैं. जबकि उससे पहले वह सार्वजनिक तौर पर काफी सक्रिय रहती थीं. सोशल मीडिया में उनकी आखिरी तस्वीर 20 मई को देखी गई थी.

प्रिंसेस को दुबई से निकालने में इस देश ने की है मदद?
अरब मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार प्रिंसेस हया अल हुसैनको दुबई से निकालने में जर्मनी के राजनयिकों ने मदद की है, क्योंकि इतना अधिक पैसा लेकर दुबई से निकलना वो दो-दो बच्चों को भी साथ लेकर आसान नहीं था.

मीडिया रिपोर्ट में सुत्रों के हवाले से ये दावा किया जा रहा है कि जर्मनी के राजनयिकों से प्रिंसेस हया अल हुसैन के संबंध पहले से ही बहुत अच्छे थे. ऐसे में उन्हें देश से निकालने में वे जर्मनी के दूतावास की मदद ले सकती हैं.
जर्मनी और यूएई में पैदा हो सकता है कूटनीतिक संकट
प्रिंसेस हया अल हुसैन को देश से निकालने को लेकर जर्मनी और यूएई के बीच कूटनीतिक स्तर पर संकट पैदा होने के आसार हैं. क्योंकि प्रिंसेस हया अल हुसैन के जाने के बाद से ही यूएई के शेख मुहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने तत्काल जर्मनी सरकार से उनके बारे में जानकारी मांगी. बल्कि शेख ने फोन पर बात कर के जर्मनी के शासकों से अपनी बेगम प्रिंसेस हया अल हुसैनको लौटाने की मांग कर दी. जर्मनी ने इस मामले में कोई मदद करने से मना कर दिया था.

शेख मोहम्मद के ऑफिशियल इंस्टाग्राम अकाउंट पर उनकी तस्वीर के साथ एक कविता भी शेयर की गई है.

अरबी में लिखी गई ये कविता ‘धोखे’ के ऊपर है, जिसकी लाइनें कुछ इस तरह हैं- ‘मैंने तुम्हें विश्वास और स्पेस दिया… तुम्हारी सबसे बड़ी गलती झूठ थी.’

प्रिंसेस हया को 20 मई के बाद से पब्लिक में नहीं देखा गया है, वहीं वो सोशल मीडिया पर भी एक्टिव नहीं हैं.उन्होंने इंस्टाग्राम पर आखिरी पोस्ट 7 फरवरी को किया था, जिसमें उन्होंने अपने पिता के साथ एक ब्लैक एंड व्हाइट फोटो शेयर की थी.

शासक की छठी बीवी हैं हाया

प्रिंसेस हाया दुबई के शासक की छठी बीवी हैं. दोनों ने साल 2004 में शादी की थी. दोनों के दो बच्चे भी हैं, जलीला (11) और जायद (7). हाया जॉर्डन के किंग रहे हुसैन की बेटी हैं.

शेख की बेटी भी कर चुकी हैं घर से भागने की कोशिश
प्रिंसेस हया अल हुसैन से पहले दुबई के शेख की बेटी राजकुमारी लतीफा भी देश छोड़ भाग निकली थीं. हालांकि तब उन्हें भारतीय राज्य गोवा के पास भारतीय तटरक्षक बल ने पकड़ लिया था. इसके बाद बहुत मामूली कागजी कार्रवाई पूरी कर उनके पिता को वापस सौंप दिया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *