जेएनयू नारेबाजी: कन्हैया समेत 10 के खिलाफ 1200 पेज की चार्जशीट 

बता दें कि पुलिस ने तीन साल तक चली जांच के बाद कोर्ट में एक ट्रंक में चार्जशीट फाइल की है। 1200 पेज की इस चार्जशीट को पुलिस ने अदालत में पेश किया है। कोर्ट में मंगलवार को इस मामले पर सुनवाई होगी। 

हाइलाइट्स

  • जेएनयू नारेबाजी केस में पुलिस ने आज पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की
  • 1200 पेज की चार्जशीट पर अदालत कल सुनवाई करेगी
  • चार्जशीट में जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार समेत 10 लोगों के नाम हैं
  • चार्जशीट पर कन्हैया कुमार ने कहा कि यह राजनीति से प्रेरित है

नई दिल्ली :जेएनयू में देशविरोधी नारेबाजी के खिलाफ दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने सोमवार को पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी। पुलिस द्वारा चार्जशीट में जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार समेत 10 लोगों के नाम शामिल हैं। कोर्ट पुलिस के चार्जशीट पर मंगलवार को सुनवाई करेगा। पुलिस तीन साल तक चली जांच के बाद चार्जशीट की कॉपी और अन्य दस्तावेजों को एक ट्रंक में लेकर कोर्ट पहुंची। Image result for जेएनयू नारेबाजी

1200 पेज की चार्जशीट, 12 नारों का भी जिक्र 
1200 पेज की इस चार्जशीट को पुलिस ने अदालत में पेश किया है। पुलिस ने चार्जशीट में कन्हैया और अन्य आरोपियों के कथित तौर पर लगाए गए 12 नारों की लिस्ट भी शामिल की है। इनमें ‘हम लेके रहेंगे आजादी…, संगबाजी वाली आजादी…, भारत तेरे टुकड़े होंगे…, कश्मीर की आजीदी तक जंग रहेगी…, भारत मुल्क को एक झटका और दो…, भारत को एक रगड़ा और दो…, तुम कितने मकबूल मारोगे…, इंडियन आर्मी को दो रगड़ा… आदि नारे शामिल हैं। Image result for जेएनयू नारेबाजी

कन्हैया समेत 10 लोगों के नाम हैं शामिल 
चार्जशीट में जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया, सैयद उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य, आकिब हुसैन, मुजीब हुसैन, मुनीब हुसैन, उमर गुल, रईस रसूल, बशरत अली, और खलिद बशीर भट के नाम हैं। जांच एजेंसी ने इस केस में पूरी तैयारी के साथ चार्जशीट तैयार की है। इस मामले के गवाहों के बयान सीआरपीसी की ऐसी धारा के तहत दर्ज किए गए हैं कि बयान से पलटने पर उन्हें सजा मिल सकती है। पुलिस ने इसके साथ ही फरेंसिक और फेसबुक डेटा के जरिए भी साक्ष्य जुटाए हैं। Image result for जेएनयू नारेबाजी

आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला 
आईपीसी की धारा 124A, 323, 465, 143, 149, 147, 120B के तहत चार्जशीट फाइल की गई है। कन्हैया ने कहा, ‘तीन साल बाद चुनाव से पहले चार्जशीट फाइल करने के पीछे राजनीतिक मंशा है। मुझे देश की न्यायपालिक में आस्था है।’ Image result for जेएनयू नारेबाजी

पुलिस ने जुटाए हैं पुख्ता सबूत 
सुनवाई शुरू होने से पहले दिल्ली पुलिस चार्जशीट को एक बक्से में लेकर पटियाला हाई कोर्ट में पहुंची। रिपोर्ट्स के मुताबिक चार्जशीट करीब 1200 पेजों की है, जिसके सपॉर्ट में कुछ दूसरे दस्तावेज भी हैं। कन्हैया और अन्य 9 आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने अभी तक की तफ्तीश में पुख्ता सबूत जुटाए हैं। इन्हीं सभी दस्तावेजों को लेकर लोहे के एक बक्से में लेकर पुलिस अदालत पहुंची। Image result for जेएनयू नारेबाजी

क्या है जांच में

जांच के मुताबिक, कन्हैया ने 9 फरवरी की शाम प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व किया। पुलिस ने पाया कि जेएनयू कैंपस में ऐसी किसी भी गतिविधि के लिए ली जाने वाली अनुमति की प्रक्रिया भी पूरी नहीं की गई थी। इन प्रदर्शनकारियों को रोका गया और उन्हें बताया गया कि ऐसे किसी भी कार्यक्रम को करने के लिए उनके पास अनुमति नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *