आगरा, । सरकार ने बेसहारा गोवंश को सहारा दिया है। सरकारी योजना में भ्रष्टाचार खत्म हुआ है, अब लाभार्थियों को सीधे पैसा पहुंच रहा है। सरकार गोसंवर्धन केंद्रों में पाले जाने वाले गोवंश के मूत्र को विदेशों में बेचेगी तो गोबर से खाद बनाएगी। Image result for गोसंवर्धन केंद्र

बात नगर विकास, अभाव सहायता, पुनर्वास राज्यमंत्री और जिला प्रभारी मंत्री गिरीश चंद्र यादव ने मैनपुरी में। उन्‍होंने कहा कि पालकों की बेरुखी से गोवंश बेसहारा घूम रहा था, प्रदेश सरकार ने इसे सहारा दिया। अब नगर और कस्बों में गो संरक्षण केंद्र बनाए जा रहे हैं तो मनरेगा से चरागाह विकसित किए जा रहे हैं। ऐसे केंद्रों में रहने वाले गोवंश के मूत्र को एकत्र कर विदेश भेजा जाएगा, गोबर से खाद बनाई जाएगी।  सरकार बछिया ज्यादा पैदा करने की योजना पर भी काम कर रही है। उन्होंने कहा कि पहले गांव में बिजली के लिए सांसद- विधायक के पास गुहार लगानी पड़ती थी, लेकिन केंद्र सरकार की सौभाग्य योजना से क्रांतिकारी परिवर्तन आया है, ट्रांसफारमरों की क्षमता में वृद्धि की जा रही है। आयुष्मान भारत योजना गरीबों के लिए रामवाण है, अब कोई गरीब आर्थिक अभाव में बीमारी से नहीं जूझेगा। प्रधानमंत्री आवास में कुछ विसंगति होने की बात स्वीकारते हुए कहा कि गरीबों की बेटियों की शादियों के लिए पिछली सरकार केवल बीस हजार रुपये देती थी, जबकि वर्तमान सरकार ने इस राशि को सामूहिक विवाह के माध्यम से 51 हजार कर दिया है। सीएचसी और पीएचसी पर दबा उपलब्धता की चर्चा करते हुए जिला प्रभारी मंत्री ने कहा कि और बेहतरी के लिए योजना बनाई जा रही है। कानून व्यवस्था में बदलाव की बात कहते हुए उनहोंने कहा कि अब हालत बदल चुके हैं, निवेश बढ़ रहा है।

 बकवास है अखिलेश की रैली

प्रभारी मंत्री ने सपाध्यक्ष अखिलेश यादव की पोल खोल रैली को बकवास करार दिया। कहा, मोदी का भय ही भ्रष्टाचार और जातिवाद में लिप्त दलों को गठबंधन करने को विवश कर रहा है, ऐसे गठबंधनों से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। अखिलेश यादव द्वारा सैनिकों को कमजोर बताने पर उन्होंने माफी मांगने को भी कहा।

पथमेड़ा गौशाला विश्व की सबसे बड़ी देशी गायों की गौशाला हैजो कि राजस्थान मे स्थित है !
2 लाख से अधिक गौ माताओं की देखभाल कर रही ये वह पावन भूमि है जिसे भगवान श्री कृष्ण ने कुरुक्षेत्र से द्वारिका जाते
समय श्रावण भादों के महीनों मे रुक कर वृन्दावन से लाई गायों के चरने व विचरने के लिए चुना था !
आपको जानकार हैरानी होगी 2 लाख गायों का प्रतिदिन का खर्चा 1 करोड़ से अधिक है !
जी हाँ पूरे एक करोड़ से ज्यादा का !! आप मोटा मोटा हिसाब लगा लीजिये,इतनी महंगाई मे एक गाय के तीन वक्त का चारा ,और साफ-सफाई का खर्च 100 रुपए से ज्यादा का है !
2 लाख गाय है 100 से गुणा कर दीजिये = 20,000,000 (2 करोड़ रुपए ) प्रति दिन खर्चा एक साथ खर्चा करने पर मान लीजिये खर्चा कम पड़ता हो तो भी आराम से 1 करोड़ प्रतिदिन का होता है !!
________________________
गौशाला पर करोड़ो का कर्ज  है
शहरी लोग 1 गाय नहीं पाल सकते लेकिन पथमेड़ा गौशाला वालों ने 2 लाख गायों के सरंक्षण की ज़िम्मेदारी ले रखी है तो क्या हमें इनको आर्थिक सहयोग नहीं करना चाहिए ??
क्या सिर्फ गौ ह्त्या रोको ,गौ ह्त्या रोके के नारों से गौ ह्त्या रुक जाएगी ?? या आप सब भी अपने सतर पर कुछ करेंगे ??
सरकारों के भरोसे इस देश मे गौह्त्या नहीं रुकने वाली लेकिन तब तक क्या हम अपने सतर पर भी प्रयास ना करें ?? मित्रो हम सब अपने सतर परबहुत कुछ कर सकते है आज देश का हजारों करोड़ रूपये हमसाबुन ,टूथपेस्ट ,क्रीम ,शैंपू ,मंजन ,आदि बेचने
वाली विदेशी कंपनियो को दे रहे है और वो हमे रद्दी सेरद्दी कवालिटी का समान बेच रहीं है !
क्वालिटी क्या होती है हमको पता नहीं ! टीवी पर बार-बारविज्ञापन देखा तो पहुँच जाते है हम दुकानों पर और ले आते है
विदेशी कंपनियो का कूड़ा उठाकर घर मे ! और कुछ महानुभाव तो ऐसे हैसमान के सुगंध से ही कवालिटी का अंदाजा लगा लेते है productको हाथ मे पकड़ेंगे सुघेंगे जिसकी सुगंध अच्छी समझते है बढ़िया quality !
विदेशी कंपनी वाले ये बात अच्छे से समझते है इसलिए उत्पादो मेतीखी सुगंध और टाइट पैकिंग करते है !ऐसा मूर्ख दिमाग
हमारा बना दिया है इन विदेशी कंपनी वालों ने !!
आपको जानकार हैरानी होगी ज्यादातक विदेशी कंपनियो के समान मे जानवरों की चर्बी का तेल मिलाया जाता है जिसे pig
tallow,beef tallow कहते है ,इसके अतिरिक्त बहुत से petrochemical मिलाये जाते है जो आपकी चमड़ी को रूखा बेजान ,बना डालते है !!
कसम से मित्रो अगर आपने कभी गौशालाओं मे निर्मित गव्य उत्पाद ( दूध ,दहीं ,घी गौ मूत्र आदि से बने उत्पादों का प्रयोग एक बार कर लिया आप फिर कभी विदेशी कंपनियो का कचरा नहीं खरीदेंगे !
इससे दो लाभ होंगे एक तो आपको अच्छी गुणवक्ता वाला समानप्रयोग करने को मिलेगा ये शुद्ध सात्विक समान आपके शरीर की घरकी शुद्धि करेगा ! और दूसरा आपका पैसा अप्रत्क्ष ( indirect) रूप सेगौशालाओ मे जाएगा आप घर बैठे गौ रक्षा के कार्य मे जुड़ जाएंगे !
_______________________
और याद रखे मित्रो आपका धन अगर गौरक्षा ,गौ सेवा मेगया तो आपके घर मे माँ लक्ष्मी का अखंडवास होगा ! आप मे से बहुत से लोग हर महीने 500 -1000 रूपये गौशालाओ मे नहीं दे सकते लेकिन आप जो ये 500-1000 रु का विदेशी कंपनियो का साबुन ,टूथपेस्ट ,क्रीम ,आदि लाते है अगर इनको हटाकर अगर गौशालाओ मे बना समान शुद्ध सात्विक समान खरीदते है तो आप घर बैठे गौ रक्षा मे सहयोग कर सकते है !!
ये पथमेड़ा गौशाला के निम्नलिखित साबुनो की सूची है !
आप एक सेट जरूर खरीदे और प्रयोग करके देखें !
(1) गुलाब साबुन= 15रु
(2) सोन्दर्य साबुन=15रु
(3) ग्व्या साबुन =15रु
(4) गव्या कपिला=20रु
(5) नीम तुलसी= 20रु
(6) केसर एलोवीरा=20रु
(7) गौमय साबुन=30रु
(8) गौचंदन साबुन =35रु
(9) गौमय दंतमंजन=30रु
एक सेट की कीमत =200 रु + 50 रु कूरियर चार्ज (पूरे भारत मे कहीं भी )
कुल 250 !
इसके अतिरिक्त और भी बहूत सारे उत्पाद है !
______________________________________
संपर्क:रवि जैन भाई= 09811169449, 09811369449
______________________________________
पथमेड़ा गौशाला कस्टमरकेयर- 07742093195
__________________________________