गुरु गोबिंद सिंह के सम्‍मान में सिक्‍का जारी, करतारपुर कॉरीडोर से सुधारी 1947 की गलती

मनमोहन सिंह की मौजूदगी में मोदी का कांग्रेस पर तंज, मोदी ने  गुरु गोविंद सिंह जयंती पर 350 रुपये का स्मारक सिक्का जारी किया। मोदी के आवास पर इस दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस जेएस खेहर भी मौजूद थे। नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को सिखों के 10वें गुरु गोबिंद सिंह जी की 352वीं जयंती के मौके पर उनके सम्मान में एक स्मारक सिक्का जारी किया. इस दौरान मोदी ने गुरु गोबिंद सिंह जी को एक अच्‍छे योद्धा के साथ ही एक कवि भी बताया. मोदी के आवास पर हुए कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी मौजूद रहे.  प्रधानमंत्री  मोदी ने कहा ‘गुरु गोबिंद सिंह  को मैं श्रद्धापूर्वक नमन करता हूं.’ उन्‍होंने देशवासियों को लोहड़ी पर्व की भी बधाई दी.

 मोदी ने कहा कि गुरु गोबिंद सिंह  ने खालसा  के जरिये पूरे देश को जोड़ा. उन्‍होंने कहा कि यह मेरा सौभाग्‍य है कि मुझे उनके सम्‍मान में सिक्‍का जारी करने का अवसर मिला. उन्‍होंने कहा कि गुरु गोबिंद सिंह  का काव्य भारतीय संस्कृति के ताने-बाने और हमारे जीवन की सरल अभिव्यक्ति है. जैसे उनका व्यक्तित्व बहुआयामी था वैसे ही उनका काव्य भी अनेक और विविध विषयों को अपने अंदर समाहित किए हुए हैं.

मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार के अथक प्रयासों से करतारपुर कॉरिडोर बनने जा रहा है, अब गुरु नानक के मार्ग पर चलने वाला हर भारतीय दूरबीन के बजाए अपनी आंखों से गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन कर पाएगा. अगस्त 1947 में जो चूक हुई थी, ये उसका प्रायश्चित है.

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी इससे पहले पांच जनवरी, 2017 को पटना में गुरु गोबिंद सिंह की 350वीं जयंती पर आयोजित समारोह में शामिल हुए थे. इस अवसर पर उन्होंने एक स्मारक डाक टिकट भी जारी किया था. अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने खालसा पंथ के जरिए देश को एकजुट करने के गुरु गोबिंद सिंह के अनूठे प्रयास को रेखांकित किया था.

 प्रधानमंत्री  मोदी ने रविवार को गुरु गोविंद सिंह की जयंती पर 350 रुपये का स्मारक सिक्का जारी किया। प्रधानमंत्री मोदी के आवास पर इस दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस जेएस खेहर भी मौजूद थे। इस दौरान प्रधानमंत्री ने मनमोहन सिंह के सामने ही कांग्रेस को नाम लिए बगैर निशाना साधते हुए कहा, ‘सिख गुरुओं ने हमें न्याय की तरफ रहने की सीख दी है।’ प्रधानमंत्री ने करतारपुर कॉरिडोर का जिक्र करते हुए कहा, ‘1947 की गलती को सुधार लिया गया है।’
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘सिख गुरुओं के दिखाए हुए रास्ते पर चलते हुए केंद्र सरकार 1984 के दंगा पीड़ितों को न्याय दिलाने का प्रयास कर रही है।’ प्रधानमंत्री मोदी ने करतारपुर कॉरिडोर का जिक्र करते हुए कहा कि गुरु नानक के भक्तों को अब टेलिस्कॉप से दर्शन नहीं करने होंगे। पीएम ने कहा, ‘1947 की गलती को सुधार लिया गया है।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि सिख समुदाय का तीर्थस्थल कुछ ही किलोमीटर दूर था, लेकिन उसे नजरअंदाज किया गया। यह प्रयास उस गलती को सुधारने का प्रयास है।
राष्ट्रपति कोविंद ने भी ट्वीट कर कहा, ‘गुरु गोविंद सिंह को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि। उन्होंने अपना जीवन लोगों की सेवा और सच्चाई, न्याय और करुणा को बनाए रखने के लिए समर्पित कर दिया। गुरु गोविंद सिंह का उदाहरण और शिक्षाएं हमें प्रेरित करती रहती हैं।’
वहीं पीएम मोदी ने कहा, ‘यह उत्सव, जिसे पूरे भारत में विविध, लेकिन मिलते-जुलते तरीकों से मनाया जाता है, यह हमारे सभी लोगों, विशेषकर किसानों की कड़ी मेहनत और दृढ़ता का जश्न मनाने का क्षण है। देश भर में यह समृद्धि और सौभाग्य लाए।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *