खूबसूरत शहर में था आतंकी कैंप, बालाकोट की अनदेखी PHOTOS,मारे गये आतंकी ट्रेनरों की सूची

 गहरी नींद में थे आतंकी जब भारत ने कर दी स्‍ट्राइक और देखते रह गए पाक अधिकारी, पाक के बालाकोट में जब भारतीय वायुसेना ने जैश-ए-मोहम्‍मद के कैंप को निशान बनाया तो आतंकी वहां सो रहे थे, जबकि पाक के रक्षा अधिकारी कुछ भी समझने में नाकाम रहे।

IAF strikes in Balakot

IAF की कार्रवाई में बालाकोट स्थित जैश का ठिकाना ध्‍वस्‍त हो गया  |  तस्वीर साभार: ANI

नई दिल्ली : पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से सैकड़ों फिदायीनों और उनके प्रशिक्षकों को बालाकोट में पहाड़ियों से घिरे जंगल में पांच सितारा रिजॉर्ट की तरह बने एक शिविर में भेज दिया गया था। इससे भारतीय बलों के लिए यह ‘आसान निशाना’ बन गया और उन्होंने मंगलवार तड़के बालाकोट के इस शिविर पर हमला कर दिया, जिसमें करीब 350 आतंकवादी हलाक हो गए। सूत्रों ने यह जानकारी दी।

सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा संचालित इस सबसे बड़े शिविर में कम से कम 325 आतंकवादी और उनके 25-27 समर्थक थे। पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। इस हमले में 40 जवान शहीद हुए थे। सरकार के करीबी सूत्रों ने बताया कि हमले के वक्त शिविर में मौजूद सभी लोग सो रहे थे और पाकिस्तानी रक्षा प्रतिष्ठान को जरा भी भनक नहीं थी कि उनके देश के इतने अंदरूनी हिस्से में हमला होने जा रहा है। दरअसल, पाकिस्तान के आला रक्षा अधिकारियों को लग रहा था कि भारत नियंत्रण रेखा के पास पीओके में स्थित शिविरों पर हमला कर सकता है।

भारत को खुफिया सूचना मिली थी कि जैश-ए-मोहम्मद ने कई प्रशिक्षणरत और खूंखार आतंकवादियों एवं उनके प्रशिक्षकों को बालाकोट शिविर में भेज दिया है। इस शिविर में 500 से 700 लोगों के रहने लायक सुविधाएं, एक स्वीमिंग पूल, खानसामों एवं सफाईकर्मियों के भी इंतजाम हैं। सूत्रों ने बताया कि पश्चिमी एवं मध्य कमानों में कई एयर बेसों से लगभग एक ही समय पर लड़ाकू एवं अन्य विमानों ने उड़ान भरी। इससे पाकिस्तानी रक्षा अधिकारी पूरी तरह भ्रमित हो गए कि आखिर ये विमान जा कहां रहे हैं।

एक सूत्र ने बताया कि विमानों का एक छोटा सा समूह अपने झुंड से निकल कर बालाकोट की तरफ मुड़ गया, जहां ‘सो रहे आतंकवादी भारतीय बमबारी का आसान शिकार बन गए।’ सूत्र ने कहा, ‘उन्हें जरा भी भनक नहीं थी कि बालाकोट को भी निशाना बनाया जा सकता है… जब तस्वीरें आएंगी तो आप देखेंगे कि कभी आलीशान रहा शिविर अब बस खंडहर रह गया है।’

रक्षा सूत्रों का कहना है कि मिराज-2000 विमानों ने शिविर पर बमबारी कर इसे पूरी तरह तबाह कर दिया। भारतीय हमले का शिकार बना आतंकी शिविर बालाकोट कस्बे से करीब 20 किलोमीटर दूर है। बालाकोटा एबटाबाद के पास नियंत्रण रेखा से करीब 80 किलोमीटर दूर है, जहां घुसकर अमेरिकी सुरक्षा बलों ने अल-कायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को मार गिराया था।

खूबसूरत शहर में था आतंकी कैंप, बालाकोट की अनदेखी PHOTOS26 फरवरी भारत ने पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद के ट्रेनिंग कैंप पर हमला किया है. भारतीय वायु सेना ने जिस इलाके में हमला किया है, उसका नाम बालाकोट है. यह खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत में स्थित है और काफी हरा-भरा पहाड़ी इलाका है. (फाइल फोटो)

  • खूबसूरत शहर में था आतंकी कैंप, बालाकोट की अनदेखी PHOTOSहमला जिस बालाकोट इलाके में हुआ है वह मानशेरा जिले में पड़ता है. बालाकोट में भारत के मिराज 2000 लड़ाकू विमानों ने आतंकी ठिकानों पर बमबारी की. जैश ने बेहद खूबसूरत इलाके में अपना ठिकाना बना रखा था. (फाइल फोटो)
  • खूबसूरत शहर में था आतंकी कैंप, बालाकोट की अनदेखी PHOTOSहालांकि, हमले की खबर सामने आने के बाद इस बात को लेकर कंफ्यूजन था कि किस बालाकोट में ये कार्रवाई की गई है. लेकिन बात में ये स्पष्ट हो गया कि हमला खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत के बालाकोट में हुआ है. (फाइल फोटो)
  • खूबसूरत शहर में था आतंकी कैंप, बालाकोट की अनदेखी PHOTOSबालाकोट का इलाका 8 अक्टूबर 2005 को आए भूकंप में बुरी तरह तबाह हो गया था. हालांकि, सऊदी पब्लिक असिस्टेंस और पाकिस्तान की सरकार के सहयोग से इसे फिर से बसाया गया. बालाकोट से जुड़ी एक और खास बात है. ऐसा कहा जाता है कि रानी नूरजहां कश्मीर जाने के दौरान बालाकोट के गढ़ी हबिबुल्लाह खान इलाके से होकर ही गई थी.
  • खूबसूरत शहर में था आतंकी कैंप, बालाकोट की अनदेखी PHOTOSऐसा कहा जाता है कि बालाकोट में कई आतंकी ट्रेनिंग कैंप चलाए जाते रहे हैं. वहीं, भारत की ओर से की गई कार्रवाई के बाद, बालाकोट इलाके को पाकिस्तानी सेना ने पूरी तरह से घेर लिया है. पाकिस्तान इस समय भारतीय वायुसेना द्वारा की गई एयर स्ट्राइक के सबूतों को मिटा रहा है.

ऑपरेशन ओसामा की तरह है भारतीय स्ट्राइक, आतंकी अड्डा पूरा साफ

  • ऑपरेशन ओसामा की तरह है भारतीय स्ट्राइक, आतंकी अड्डा पूरा साफभारत ने पाकिस्तान में घुसकर पुलवामा में हुए आतंकी हमले का बदला ले लिया. भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में 12 मिराज-2000 विमानों से बम वर्षा कर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने तबाह कर दिए.

     पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में स्थित बालाकोट एबटाबाद से सिर्फ 60 किलोमीटर दूर है. एबटाबाद वही जगह है जहां पर अमेरिकी सेना ने अलकायदा के खूंखार आतंकी ओसामा बिन लादेन को मार गिराया था. 8 सालों बाद वही हौसला भारतीय सेना ने दिखाते हुए एयर स्ट्राइक कर पाकिस्तान को हैरान कर दिया.

  • ऑपरेशन ओसामा की तरह है भारतीय स्ट्राइक, आतंकी अड्डा पूरा साफपाकिस्तान में घुसकर की स्ट्राइक-

    अमेरिकी सैन्य बलों ने 2 मई 2011 को पाकिस्तानी सीमा में घुसकर अल कायदा के खूंखार आतंकी लादेन को मार गिराया था. 2 मई की रात करीब एक बजे अमेरिकी सेना ने मिशन ओसामा को अंजाम दिया था. उसी अंदाज में भारतीय वायुसेना ने भी मंगलवार सुबह 3 बजे बालाकोट में घुसकर आतंकी ठिकानों को तबाह किया. रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय वायुसेना के इस बड़े ऑपरेशन में जैश के करीब 300 आंतकी मारे गए. इसमें आतंकी संगठन के कई टॉप कमांडरों का नाम भी शामिल है.

  • ऑपरेशन ओसामा की तरह है भारतीय स्ट्राइक, आतंकी अड्डा पूरा साफपाकिस्तान को भनक नहीं लगी-अमेरिकी कमांडो पाकिस्तान की छावनी में घुसकर अपना शिकार कर गए और पाकिस्तान को भनक भी तब लगी, जब ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ्स के चेयरमैन एडमिरल माइक मुलेन ने फोन करके जनरल कियानी को बताया. उसी तरह भारतीय वायुसेना के अभियान की भनक भी पाकिस्तान को तब जाकर लगी, जब भारतीय जवान ऑपरेशन को अंजाम देकर लौटने लगे. पाकिस्तान भारत के मिराज-2000 पर कोई जवाबी कार्रवाई नहीं कर सका. पाकिस्तान के पास F-16 जैसे लड़ाकू विमान हैं लेकिन उसके पास तबाही का मंजर देखने के अलावा कोई और विकल्प नहीं था.
  • ऑपरेशन ओसामा की तरह है भारतीय स्ट्राइक, आतंकी अड्डा पूरा साफकेवल आतंकियों को निशाना बनाया गया-

    ऑपरेशन ओसामा की तरह ही भारत का ऑपरेशन भी टारगेटेड था. भारतीय वायुसेना की स्ट्राइक में केवल आतंकियों को निशाना बनाया गया, आम लोगों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा गया.

  • ऑपरेशन ओसामा की तरह है भारतीय स्ट्राइक, आतंकी अड्डा पूरा साफकुछ मिनटों में किया ऑपरेशन-

    अमेरिकी ने ओसामा को सिर्फ 41 मिनट के अभियान में ढेर कर दिया था, भारतीय सेना ने भी सिर्फ 21 मिनट के भीतर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकाने तबाह कर दिए. इस 21 मिनट में भारतीय 12 मिराज फाइटर ने पाकिस्तान के अलग-अलग हिस्सों में हमला किया.

  • ऑपरेशन ओसामा की तरह है भारतीय स्ट्राइक, आतंकी अड्डा पूरा साफहमले का जवाब-

    9/11 को हुए हमले के बाद अमेरिका ने चैन की सांस नहीं ली. अमेरिका ने ओसामा को जिंदा या मुर्दा पकड़ने का ऐलान किया था. तब से अमेरिकी सेना अफगानिस्तान और पाकिस्तान में उसके संभावित ठिकानों पर लगातार धावा बोल रही थी. अमेरिका ने पाकिस्तान में घुसकर ओसामा को मार गिराया और 9/11 हमले का बदला लिया. भारत ने भी पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों की शहादत के 11 दिन बाद ही पाकिस्तान से प्रतिशोध ले लिया.

  • ऑपरेशन ओसामा की तरह है भारतीय स्ट्राइक, आतंकी अड्डा पूरा साफअमेरिकी सेना के पाकिस्तान के एबटाबाद के अंदर ओसामा को मार गिराने के ऑपरेशन के बाद भी पाक अपनी जमीन पर किसी आतंकी गतिविधि की जानकारी से इनकार करता रहा. पुलवामा में हुए हमले में भी पाक खुद को पाक-साफ पेश करने की लगातार कोशिश करता रहा.
  • ऑपरेशन ओसामा की तरह है भारतीय स्ट्राइक, आतंकी अड्डा पूरा साफ

    इस तरह की कार्रवाई के संकेत केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी कुछ दिनों पहले ही दे दिए थे. जब उनसे सवाल पूछा गया कि क्या भारत भी उसी प्रकार की कार्रवाई कर सकता है जैसे अमेरिका ने अलकायदा प्रमुख ओसामा पर की थी. तो उन्होंने जवाब में कहा था कि अमेरिका को भी इस कार्रवाई करने में ढाई साल लगे थे, हमें इतना वक्त नहीं लगेगा. अभी आप प्रतीक्षा कीजिए, देश निराश नहीं होगा.

जैश के ठिकाने की पहली तस्वीर, जहां भारत ने गिराए 1000 Kg बम

  • जैश के ठिकाने की पहली तस्वीर, जहां भारत ने गिराए 1000 Kg बमभारतीय वायु सेना ने आखिरकार पुलवामा में जवानों की शहादत का बदला ले ही लिया. मंगलवार तड़के पाकिस्तान के बालाकोट में भारत के 12 लड़ाकू विमानों ने बमबारी की और जैश के ठिकानों को तबाह कर दिया. जिस जगह भारत ने बमबारी की वहां की कुछ तस्वीरें सामने आई हैं. बताया जा रहा है कि यह जगह जैश-ए-मोहम्मद का ट्रेनिंग कैम्प था.
  • जैश के ठिकाने की पहली तस्वीर, जहां भारत ने गिराए 1000 Kg बमयहां 300 आतंकी मारे जाने की बात कही जा रही है. घने जंगलों के बीच बने इस आतंकी कैम्प में सुसाइड अटैक की ट्रेनिंग दी जाती थी.
  • जैश के ठिकाने की पहली तस्वीर, जहां भारत ने गिराए 1000 Kg बमयहां सड़कों पर कई देशों के झंडे भी मिले हैं. कहा जा रहा है कि जैश के सरगना यहीं से कई देशों में आतंकी गतिविधियों की प्लानिंग करते थे.
  • जैश के ठिकाने की पहली तस्वीर, जहां भारत ने गिराए 1000 Kg बमसूत्रों का कहना है कि जिस वक्त भारत ने आतंकी कैम्प पर हमला किया उस वक्त मौलाना अमर और आतंकी मसूद अजहर का भाई मौलाना तल्हा सैफ कैम्प में मौजूद था. ख़ुफ़िया एजेंसियों द्वारा जारी किए गए डोजियर में मौलाना मसूद अजहर की गाड़ी अक्सर यहां आने की भी तस्वीरें हाथ लगी हैं.
  • जैश के ठिकाने की पहली तस्वीर, जहां भारत ने गिराए 1000 Kg बम

    बताया जा रहा है कि मसूद अजहर और अब्दुल रउफ जैसे आतंकी इस कैम्प में आतंकियों को लेक्चर देते थे. इस कैम्प के किनारे कुन्हार नदी भी बहती है जहां आतंकियों को समुद्री हमले की ट्रेनिंग दी जाती थी. इन्हें पाकिस्तानी सेना के पूर्व अफसर ट्रेनिंग देते थे. Balakot Terrorist List- India TV

    भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जिस जैश के आतंकी ठिकाने को अपना निशाना बनाया वहां बड़े पैमाने पर तबाही हुई है। इस एयर स्ट्राइक के समय बालाकोट के इस आतंकी शिविर में मौजूद जैश के कमांडरों और आतंकियों की पूरी लिस्ट भारतीय खुफिया एजेंसियों के पास मौजूद है।

    जानकारी के मुताबिक इस शिविर में जैश के टॉप कमांडर समेत बड़ी तादाद में थे। जैश के कमांडरों में मौलाना अम्मार, तल्हा सैफ, अजहर खान, इब्राहिम अजहर आदि शामिल हैं।

    इससे पहले विदेश सचिव ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि बालाकोट स्थित जैश के आतंकी ठिकाने पर किए गए हमले में बहुत बड़ी संख्या में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी, आतंकियों को सिखाने वाले और ऊंचे औहदे वाले कमांडर मारे गए हैं, उन्होंने बताया जिस कैंप पर हमला किया गया है उसे मौलाना युसुफ अजहर उर्फ उस्ताद घौरी चलाता था जो जैश के मुखिया मसूद अजहर का साला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *