कोलकाता पुलिस कमिश्नर से 8 घंटे की पूछताछ, आज फिर पेश

‘गायब’ सीसीटीवी फुटेज का पता लगाने में जुटी सीबीआई, राजीव कुमार से आज फिर करेगी पूछताछ
सीबीआई के सूत्रों ने बताया कि जांच एजेंसी को सीसीटीवी फुटेज की तलाश है, जिससे इस घोटाले में शामिल प्रभावशाली लोगों का पता चल सके.
'गायब' CCTV फुटेज का पता लगाने में जुटी CBI, राजीव कुमार से आज फिर करेगी पूछताछकोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार की फाइल फोटो

 
शारदा चिटफंड मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से शनिवार को करीब 8 घंटे पूछताछ की. राजीव कुमार से यह पूछताछ इस कथित घोटाले से जुड़े अहम सबूतों, खासतौर से गायब हुए एक पेन ड्राइव और लैपटॉप की जानकारी हासिल करने के लिए की गई. हालांकि सवाल उठता है कि सीबीआई यहां क्या पता करना चाहती है? इस सवाल पर सीबीआई के सूत्रों ने बताया कि जांच एजेंसी को सीसीटीवी फुटेज की तलाश है, जिससे इस घोटाले में शामिल प्रभावशाली लोगों का पता चल सके.
इस मामले में कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से सीबीआई रविवार को लगातार दूसरे दिन भी पूछताछ करेगी. इसके अलावा तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के पूर्व सांसद कुणाल घोष भी पूछताछ के लिए रविवार को शिलॉन्ग में सीबीआई के सामने पेश होंगे. सीबीआई सूत्रों ने बताया कि जांच एजेंसी राजीव कुमार का कुणाल घोष से आमना-सामना करा सकती है. हालांकि इस संबंध में निर्णय शिलॉन्ग में मौजूद जांच अधिकारी ही लेंगे.

View image on TwitterView image on Twitter
कोलकाता में सीबीआई के संयुक्त निदेशक पंकज श्रीवास्तव ने इससे पहले कहा था कि राज्य पुलिस ने एजेंसी को कुछ ‘अहम सबूत’ नहीं सौंपे हैं. किसी बड़ी साजिश की तरफ इशारा करते हुए सीबीआई ने शक जताया था कि ये सबूत छुपा लिए गए हैं या फिर नष्ट कर दिए गए हैं.

सीबीआई का दावा है कि शारदा घोटाले के लिए पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा राजीव कुमार के नेतृत्व में गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) के जुटाए सबूतों में एक लैपटॉप, पांच मोबाइल फोन और शारदा समूह के प्रमुख सुदिप्तो सेन की लाल डायरी सहित कुछ अहम दस्तावेज शामिल थे.
वर्ष 2014 में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर सीबीआई ने इस मामले की जांच शुरू की थी. वहीं एक सीबीआई अधिकारी बताते हैं कि एसआईटी ने वह डायरी, पेन ड्राइव और दूसरे दस्तावेज़ों सहित कई अहम सबूत हमें नहीं सौंपे. हमारा मानना है कि इनमें प्रभावशाली लोगों के नाम और उनको की गई पेमेंट्स का रिकॉर्ड था.’
सुदिप्तो सेन को जब उत्तरी 24 परगना की जिला अदालत में पेश किया गया तो उन्होंने किसी लाल डायरी की मौजूदगी से साफ इनकार किया. उन्होंने कोर्ट से कहा, ‘मेरे पास कोई लाल डायरी नहीं है.’ लाल डायरी भले हो या ना हो- इस मामले में सबसे अहम सबूत मिडलैंड पार्क स्थित सेन के दफ्तर और घर के सीसीटीवी फुटेज को माना जा रहा है.
सीबीआई के ही एक अधिकारी का कहना है, ‘हमें यह पक्के तौर से पता है कि वहां सीसीटीवी कैमरा लगा था और उसका फुटेज रिकॉर्ड व स्टोर किया जाता था. हमें यह भी पता है कि यह सीसीटीवी फुटेज एसआईटी के हवाले किया गया था.’
शारदा ग्रुप की नंबर दो अधिकारी व कंपनी की कार्यकारी निदेशक देबयानी मुखर्जी और उनके दफ्तर में बतौर अकाउंटेंट काम करने वाली एक महिला की गवाही से भी इस सीसीटीवी फुटेज की पुष्टि होती है. सूत्रों के मुताबिक, उन दोनों ने ही बताया है कि एसआईटी ने वह सीसीटीवी फुटेज जब्त कर लिया था और फिर फुटेज को पेन ड्राइव में ट्रांसफर किया था.
सीबीआई का दावा है कि इन फुटेज में कई प्रभावशाली लोगों की तस्वीरें हैं, जो सेन के घर और दफ्तर में अक्सर आया जाया करते थे. सूत्रों का कहना है, ‘सीसीटीवी फुटेज से हमें उन लोगों का पता चल सकेगा और फिर हम उनसे पूछताछ कर सकेंगे.’ हालांकि इसके साथ ही वह यह साफ करते हैं कि सेन के घर या दफ्तर आने-जाने से किसी की घोटाले में संलिप्तता साबित नहीं होती है, लेकिन हमें जांच के लिए यह जरूरी लगता है. सूत्रों ने साथ ही बताया कि अब मुखर्जी से एक बार फिर पूछताछ की जाएगी.
बता दें कि यह शारदा पॉन्जी स्कैम वर्ष 2013 में उजागर हुआ था. इसके घोटाले में करीब 20 लाख निवेशकों के करीब 250 अरब रुपये डूब गए थे. मेघालय में सीबीआई के जरिए तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद कुणाल घोष से पूछताछ की जाएगी. यह पूछताछ शिलॉन्ग के सीबीआई ऑफिस में 10 फरवरी को की जाएगी.

 चिटफंड घोटाला: CBI ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर से 8 घंटे की पूछताछ, आज फिर होंगे पेशकोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार
शारदा चिटफंड घोटाले मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ की. उनसे यह पूछताछ पूर्वोत्तर के राज्य मेघालय की राजधानी शिलॉन्ग में की गई. हजारों करोड़ रुपये के शारदा चिटफंड स्कैम में सबूतों को नष्ट करने में भूमिका को लेकर राजीव कुमार सीबीआई के निशाने पर हैं. चिटफंड स्कैम में सीबीआई राजीव कुमार से रविवार को भी पूछताछ करेगी.
इसके अलावा अब सीबीआई मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के पूर्व सांसद कुणाल घोष से भी पूछताछ करने वाली है. सीबीआई उनसे रविवार को शिलॉन्ग में ही सवाल-जवाब करेगी.
दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने बीते मंगलवार को राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होने का निर्देश दिया था. कोर्ट ने अपने निर्देश में कहा था कि कोलकाता पुलिस कमिश्नर ‘शारदा चिटफंड घोटाले’ से जुड़े मामलों की जांच में सीबीआई के साथ ‘विश्वसनीय रूप से’ सहयोग करें. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट किया है उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाएगा.
रिपोर्ट्स में बताया गया था कि कोलकाता पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने स्टेट क्रिमिनल इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट के साथ मिलकर 80-100 सवालों की एक लिस्ट तैयार की थी. जो सीबीआई के अधिकारी राजीव कुमार से पूछे जाने हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *