कुली ने पास की सिविल सर्विस परीक्षा, स्टेशन पर फ्री Wifi से की पढ़ाई

मेरठ यूनिवर्सिटी में फ्री वाईफाई बंद, स्‍टूडेंट्स देख रहे थे अश्‍लील साइट्स

  • कूली ने पास की सिविल सर्विस परीक्षा, स्टेशन पर फ्री Wifi से की पढ़ाई
     नई दिल्ली, 9 मईः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में भारतीय रेलवे को आधुनिक बनाने के लिए कई स्टेशनों पर वाई-फाई की सुविधा शुरू की गई। इस सुविधा का किसी ने दुरुपयोग किया तो किसी ने इससे सिविल सर्विस की परीक्षा को पास कर लिया। साल 2016 के अक्टूबर में एक रिपोर्ट आई थी, जिसमें बताया गया था कि बिहार की राजधानी के पटना स्टेशन पर वाई-फाई से लोग जमकर पॉर्न सर्च कर रहे हैं। रिपोर्ट सामने आने के बाद सरकार का जमकर मजाक उड़ाया गया था, लेकिन अब एक ऐसी खबर सामने आई है जिसकी हर कोई तारीफ कर रहा है।
  • कूली ने पास की सिविल सर्विस परीक्षा, स्टेशन पर फ्री Wifi से की पढ़ाईसिविल सर्विस परीक्षा क्रैक करने के लिए लोग बड़े-बड़े कोचिंग सेंटर जाते हैं. यदि हम यह कहें कि एक कुली ने रेलवे स्टेशन के फ्री वाईफाई से पढ़कर सिविल सर्विसेज एग्जाम क्लियर कर लिया हो तो आप जरूर हैरान हो जाएंगे, लेकिन यह सच है. केरल में एर्नाकुलम जंक्शन पर पिछले 5 सालों से कुली का काम करने वाले युवक श्रीनाथ ने केरल पब्लिक सर्विस कमीशन की परीक्षा पास कर ली है. सबसे बड़ी बात तो यह कि उसने पढ़ाई के लिए किसी किताब की मदद नहीं ली, बल्कि रेलवे स्टेशन के वाईफाई की मदद से पढ़ाई की. इसके लिए वह मोबाइल में वीडियो की मदद लेता था. उनके पास अपने फोन और ईयरफोन के अलावा कोई किताब भी नहीं थी.
  • कूली ने पास की सिविल सर्विस परीक्षा, स्टेशन पर फ्री Wifi से की पढ़ाई
    वह अपनी पढ़ाई मोबाइल में वीडियोज की मदद से करता था। उनके पास अपने फोन और ईयरफोन के अलावा कोई किताब भी नहीं थी, लेकिन वाईफाई ने उसकी जिंदगी बदल दी।
    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, श्रीनाथ तीन बार परीक्षा में बैठा है, लेकिन पहली बार उसने अपनी तैयारी के लिए रेलवे के फ्री वाईफाई का इस्तेमाल किया. उसने बताया कि कुली के रूप जब लोगों का सामान ढ़ोते थे उस समय अपने कानों में ईयरफोन लगा लेते थे और पढ़ने वाली चीजों को सुनता रहता था. उसने बताया कि कुली के रूप जब लोगों का सामान ढ़ोते थे उस समय अपने कानों में ईयरफोन लगा लेते थे और पढ़ने वाली चीजों को सुनता रहता था। उनका पढ़ाई करने का यही तरीका थी क्योंकि काम के बीच वे इसी तरह पढ़ पाते थे। अब यदि श्रीनाथ इंटरव्यू भी क्वालीफाई कर लेते हैं तो वे लैंड रेवेन्यू डिपार्टमेंट में बतौर विलेज फील्ड असिस्टेंट नियुक्त किए जाएंगे.
  • कूली ने पास की सिविल सर्विस परीक्षा, स्टेशन पर फ्री Wifi से की पढ़ाईदसवीं पास श्रीनाथ मन्नार के रहने वाले हैं, एर्नाकुलम उनका नजदीकी रेलवे स्टेशन है. उनका कहना है कि मुफ्त वाईफाई सुविधा ने उनके लिए सफलता के द्वार खोल दिए.

    साल 2016 में यह सुविधा हुई थी शुरू

    बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार ने साल 2016 डिजिटल इंडिया के तहत रेलवे स्टेशनों पर वाईफाई की सुविधा शुरू की थी। इस सुविधा को फ्री रखा गया है, जिसे स्टेशनों पर कोई भी इस्तेमाल कर सकता है। साल 2018 के मई तक देशभर के 685 रेलवे स्टेशनों पर ये सुविधा उपलब्ध हो गई है, जबकि भारतीय रेलवे ने मार्च 2019 तक इसे 8500 पहुंचाने का लक्ष्य रखा है।

  • कूली ने पास की सिविल सर्विस परीक्षा, स्टेशन पर फ्री Wifi से की पढ़ाई इस सुविधा को फ्री रखा गया है, जिसे स्टेशनों पर कोई भी इस्तेमाल कर सकता है.

मेरठ यूनिवर्सिटी में फ्री वाईफाई बंद, स्‍टूडेंट्स देख रहे थे अश्‍लील साइट्स

लखनऊ। 14 Jul 2016 प्रदेश में शिक्षण संस्थानों के साथ सार्वजनिक स्थल पर ही एक ओर जहां वाई-फाई की सुविधा मुफ्त दी जा रही है, वहीं इसका जमकर दुरुपयोग भी हो रहा है। ताजा मामला मेरठ के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय का है, जहां पर मुफ्त वाई-फाई 30 दिन के लिए बंद कर दिया गया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *