कश्मीर के कट्टरवादी और आतंकी हो सकते हैं जायरा वसीम के पलायन की पीछे ?

धर्म की खातिर बॉलीवुड छोड़ने पर जायरा वसीम के साथ सहानुभूति होनी चाहिए
जायरा वसीम ने तो बॉलीवुड को इस्‍लाम का हवाला देते हुए अलविदा कह दिया है. एक 18 साल की उभरती हुई कलाकार को इस फैसले तक पहुंचने के लिए किन-किन परिस्थितियों से गुजरना पड़ा होगा, ये भी जानने की जरूरत है.
रविवार के दिन हर कोई भारत और इंग्लैंड के बीच होने वाले मैच को लेकर बातें कर रहे थे. इसी बीच जायरा वसीम का एक फेसबुक पोस्ट सामने आया और देखते ही देखते सोशल मीडिया पर India vs England मैच के साथ-साथ जायरा वसीम की भी चर्चा शुरू हो गई. दरअसल, दंगल गर्ल के नाम से जानी जाने वाली टीन एजर बॉलीवुड अभिनेत्री जायरा वसीम ने बहुत कम उम्र में काफी शोहरत पा ली थी. लेकिन मूलत: कश्मीर की रहने वाली इस युवा अभिनेत्री ने अचानक से धर्म का हवाला देकर बॉलीवुड को अलविदा कहकर सनसनी फैला दी.

जायरा वसीम ने साफ किया है कि बॉलीवुड की वजह से वह ईमान से भटक गईं. वह कहती हैं कि बॉलीवुड में काम करने के दौरान हिप्पोक्रेसी (दोगलापन) आड़े आती थी. जायरा वसीम ने वाकई धर्म के लिए बॉलीवुड छोड़ा है या किसी दबाव में, ये शायद कभी सामने नहीं आएगा, लेकिन उनका इस तरह से बॉलीवुड छोड़ना कई सवाल खड़े कर रहा है.
जायरा वसीम ने बॉलीवुड को धर्म का हवाला देते हुए अलविदा कह दिया है.

क्या-क्या लिखा जायरा ने अपनी फेसबुक पोस्ट में?
जायरा वसीम ने बॉलीवुड छोड़ने की घोषणा एक फेसबुक पोस्ट के जरिए की. अपने 6 पन्ने के फेसबुक पोस्ट में जायरा वसीम ने कई बातें कीं. जायरा वसीम ने अपनी पोस्ट में लिखा है- ‘5 साल पहले मैंने एक फैसला किया था, जिसने मेरी जिंदगी बदल दी. बॉलीवुड में कदम रखते ही कई रास्ते खुल गए, लेकिन ये सब वो नहीं था, जिसकी ख्वाहिश मुझे थी. मैं अपनी इस पहचान और काम से खुश नहीं हूं. बॉलीवुड में मुझे बहुत प्यार मिला, लेकिन इसने मुझे अज्ञानता के रास्ते पर ले जाने का काम किया, क्योंकि मैं ईमान से भटक गई. ऐसे माहौल में जब मैंने काम करना जारी रखा तो इसने मेरे ईमान में दखल दिया. धर्म के साथ मेरा रिश्ता खतरे में पड़ गया. मैं लगातार अपनी आत्मा से लड़ती रही.’
ये हो सकती है बॉलीवुड छोड़ने की असल वजह
भले ही जायरा वसीम को बॉलीवुड इंडस्ट्री के साथ-साथ पूरे देश से प्यार मिला हो, लेकिन वो जहां से आई हैं, वहां के लोगों से उन्हें नफरत के अलावा कुछ नहीं मिला. जब जायरा वसीम बॉलीवुड में होती थीं तो खुलकर जिंदगी जीते हुए दिखती थीं और जब कश्मीर जाती थीं तो वहां की सियासत उन पर हावी हो जाती थी. दंगल और सीक्रेट सुपरस्टार जैसी फिल्म करने वाली जायरा को कश्‍मीर में हमेशा दबाव बर्दाश्‍त करना पड़ा है. 14 जनवरी 2017 को मेहबूबा मुफ्ती से मुलाकात के बाद तो जायरा वसीम के सिर पर आफत ही फट पड़ी थी. जायरा को कश्‍मीरी युवाओं के लिए रोल मॉडल कहे जाने पर तीखी प्रतिक्रिया हुई. छह महीने पहले बुरहान वानी का एनकाउंटर हुआ था. कश्‍मीर के आतंकवादी, इस्‍लामी कट्टरपंथी और अलगाववादी नेता बुरहान के अलावा किसी और को रोल मॉडल मानने के लिए तैयार कहां होते? अगले ही दिन को जायरा को मेहबूबा मुफ्ती से मुलाकात के लिए माफी मांगनी पड़ी. फेसबुक पर लिखना पड़ा कि वह कश्‍मीरी युवाओं के लिए रोल मॉडल नहीं हो सकती.
कश्‍मीर की सियासत के बोझ तले दब रही जायरा को इधर बॉलीवुड अपने सिर-माथे पर बैठाए था. आमिर खान उन्‍हें अपना रोल मॉडल बता रहे थे. दंगल और सीक्रेट सुपर स्‍टार जैसे फिल्‍म ने उन्‍हें भारत में ही नहीं, दुनिया में मशहूर कर दिया था. लेकिन इस शोहरत के बावजूद जायरा अपने निजी जीवन में संघर्ष करती दिखती हैं. खासतौर पर कश्‍मीर की पृष्‍ठभूमि में. वह बॉलीवुड में होती थीं, तो एक तरह से भारत का प्रतिनिधित्व करती थीं, जबकि कश्मीर के अलगाववादियों को ये बिल्कुल पसंद नहीं आता था. इन सब की वजह से उनके परिवार को भी परेशानी होती थी. अब अगर देखा जाए तो ये भी जायरा वसीम के बॉलीवुड छोड़ने की एक वजह हो सकती है.
अब वो सवाल, जिनके जवाब चाहिए !
जायरा वसीम ने बॉलीवुड में अपने प्रोफेशन के हवाले से कहा है कि वह उनके इस्‍लाम के आड़े आ रहा था. तो क्‍या बॉलीवुड में काम करना गैर-इस्‍लामिक है? क्‍या शाहरुख खान, सलमान खान और आमिर खान भी ऐसी कश्‍मकश से गुजरे हैं? और यदि ऐसा हुआ है तो इन सुपरस्‍टार अभिनेताओं के किस हवाले से अपने आप को इस प्रोफेशन से जोड़े रखा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *