एयर स्ट्राइक पर ममता ने उठाए सवाल:  जानना चाहता है देश, आतंकी कैंप हमले में मरे कितने ?

भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच ममता बनर्जी ने आतंकी कैंप पर भारतीय वायुसेना द्वारा एयर स्ट्राइक  पर सवाल उठाए.

एयर स्ट्राइक पर ममता बनर्जी ने उठाए सवाल: देश जानना चाहता है कि आतंकी कैंप पर हमले में कितने मरे?

एयर स्ट्राइक पर ममता बनर्जी ने उठाए सवाल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच ममता बनर्जी ने आतंकी कैंप पर भारतीय वायुसेना द्वारा एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाए हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बृहस्पतिवार को कहा कि जवानों का जीवन चुनावी राजनीति से ज्यादा कीमती है, लेकिन देश को यह जानने का अधिकार है कि पाकिस्तान के बालाकोट में वायुसेना के हवाई हमले के बाद वास्तव में वहां क्या हुआ था. बता दें कि 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान की जमीन पर जैश के आतंकी कैंप पर एयर स्ट्राइक किया था, जिसमें करीब 300 आतंकी मार गिराए गये. 
विदेशी मीडिया की उन रिपोर्टों का हवाला देते हुए जिनमें कहा गया था कि बालाकोट में आतंकी शिविरों पर भारतीय वायु सेना के हमलों से कोई नुकसान नहीं हुआ है, ममता ने कहा, “बलों को तथ्यों के साथ सामने आने का मौका दिया जाना चाहिए.” ममता ने यहां राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, “हवाई हमलों के बाद, हमें बताया गया कि 300 मौतें हुईं, 350 मौतें हुईं. लेकिन मैंने न्यूयॉर्क टाइम्स और वॉशिंगटन पोस्ट में ऐसी खबरें पढ़ीं जिनमें कहा गया कि कोई इंसान नहीं मारा गया. एक अन्य विदेशी मीडिया रिपोर्ट में केवल एक व्यक्ति के घायल होने की बात कही गई थी.”

उन्होंने कहा, “हमें यह जानने का अधिकार है, इस देश के लोग यह जानना चाहते हैं कि कितने मारे गए (बालाकोट में) वास्तव में बम कहां गिराया गया था? क्या यह लक्ष्य पर गिरा था?” इससे पहले सरकारी अधिकारियों ने मंगलवार को कहा था वायुसेना ने पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के बड़े प्रशिक्षण शिविरों पर बम गिराकर उन्हें तबाह कर दिया, जिसमें 350 आंतकवादी, उनके प्रशिक्षक और बड़े कमांडर मारे गए.

दरअसल, 26 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले का बदला लेने के लिए भारत ने पाकिस्तानी सरजमीं पर पल रहे जैश के आतंकी ठिकानों पर हमला बोला. भारतीय वायुसेना ने मंगलवार सुबह पाकिस्तान के बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के आतंकी शिविर पर बम गिराए थे और करीब 300 आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया था.  इस दौरान भारत ने करीब 12 मिराज लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल किया और 1000 किलो बमों की बारिश कर दी. इसके बाद पाकिस्तान की बौखलाहट सामने आने लगी और उसने भारत के दावे को खारिज करने की कोशिश की. आतंकी ठिकानों पर भारत की एयरस्ट्राइक के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया. हालांकि, एयरस्ट्राइक के बाद भारत ने इसकी सूचना तमाम देशों को दे दी.

VIDEO- तीनों सेनाओं की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस : हम जो करना चाहते थे वो कर दिया

 

पुलवामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने बदले कार्रवाई में पाकिस्तान के बालाकोट में सर्जिकल स्ट्राइक की. इस दौरान भारतीय वायुसेना के 12 मिराज लड़ाकू विमानों ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इसमें जैश के करीब 200-300 आतंकियों को ढेर कर दिया गया. लेकिन पाकिस्तान का कहना है कि भारत के विमानों ने केवल खाली जगह पर बम गिराए गए हैं. उनके इस हमले में कोई भी हताहत नहीं हुआ. इस पर भारतीय सेना ने कहा कि उनकी सर्जिकल स्ट्राइक के सफल होने के उनके पास सबूत हैं और इन सबूतों का खुलासा करने का फैसला सरकार करेगी.

बुधवार को पाकिस्तान ने भारतीय सीमा (India) में घुसने की नापाक कोशिश की, जिसे भारतीय वायुसेना ने असफल कर दिया और उसके एक लड़ाकू विमान को मार गिराया. हालांकि, इस जवाबी कार्रवाई में हमारा भी एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया और एक पायलट लापता हो गया, जो बाद में पता चला कि वह पाकिस्तान की हिरासत में है. भारत की ओर से कार्रवाई और पाकिस्तान की नापाक कोशिशों के बाद भारत-पाक के बीच काफी तनातनी बढ़ गई. हालांकि, गुरुवार को पाकिस्तान ने पायलट अभिनंदन की रिहाई का ऐलान कर दिया और आज पायलट अभिनंदन भारत आएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *