एक वर्ष से लम्बित विवेचनाओं पर नाराज हुए रतूड़ी

  साईबर क्राइम की विवेचनायें भी काफी धीमी:अशोक कुमार

देहरादून ,12 जुलाई  : अनिल के0 रतूड़ी, पुलिस  महानिदेशक  उत्तराखण्ड ने उत्तराखण्ड के सभी जनपद प्रभारियों व परिक्षेत्र प्रभारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से प्रदेश की अपराध एवं कानून व्यवस्था एवं प्रशासनिक कार्यों के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक ली गई।

रतूड़ी ने अपने सम्बोधन में जनता के साथ अच्छा व्यवहार करने तथा अपनी कार्य प्रणाली में पारदर्शिता एवं विश्वसनीयता बरतने पर बल देते हुये सभी अधिकारियों से व्यवसायिक दक्षता के साथ कार्य करने की बात कही। एक वर्ष से लम्बित विवेचनाओं पर नाराजगी जताते हुये उनके शीघ्र निस्तारण किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। यातायात प्रबन्धन पर भी सभी जनपद प्रभारियों से अपने-अपने जनपद की यातायात व्यवस्था का आंकलन कर एक कार्ययोजना बनाने तथा उसके अनुरुप यातायात व्यवस्था संचालित करने के निर्देश दिये। साथ ही आगामी 27/28 जुलाई 2018 से प्रारम्भ होने वाले कांवड मेला के दृष्टिगत भीड़ नियंत्रण,यातायात प्रबन्धन एवं आन्तरिक सुरक्षा की चुनौतियों के सम्बन्ध में व्यवस्था बनाये जाने तथा हाल में जनपद ऊधमसिंहनगर एवं नैनीताल में हुई बड़ी घटनाओं का शीध्र अनावरण कर जनता में सुरक्षा एवं विश्वास की भावना बढाने हेतु निर्देशित किया गया।

अशोक कुमार ने कहा कि वाहन चोरी के खुलासे में भी सीसीटीवी का प्रयोग करें,  साईबर क्राइम की विवेचनायें काफी धीमी है, जिसमें सुधार की काफी आवश्यकता है। उन्होने सभी जनपद प्रभारियों को अपराध पंजीकृत करने से न डरने एवं आपराधों की रोकथाम हेतु व्यवस्था बनाने हेतु निर्देशित किया गया।

 

वीडियो कान्फ्रेसिंग के दौरान निम्न बिन्दुओं पर दिशा-निर्देश दिये गये:-

1-         बलात्कार से सम्बन्धित अपराधों की विवेचनाएं 02 माह के भीतर सम्पन्न करने हेतु निर्देशित किया गया।

2-         कांवड मेले में हेतु जनपदों से भेजे जाने वाले पुलिस बल में कटौती न करने एवं स्वस्थ व इच्छुक कर्मी को ही कांवड मेला ड्यूटी में भेजे जाने हेतु निर्देशित किया गया।

3-         न्यायालय में पेशी पर अभियुक्तों को पेश करते समय सतर्कता बरतने हेतु निर्देशित किया गया।

4-         साम्प्रदायिक सौहार्द बनाये रखने हेतु प्रत्येक थाने मे की जाने वाली बैठकों की समीक्षा करते हुये इसमे क्षेत्र के सभी दलों, सगठनों,स्थानीय सम्रान्त लोगों विशेष रूप से नौजवानों को सम्मिलित करने हेतु निर्देशित किया गया। साथ ही सोशल मीडिया पर फैलायी जाने वाली अफवाहों पर सतर्क दृष्टि रखते हुए अफवाह फैलाने वालों पर त्वरित कार्यवाही की जाय।

5-         जनपद प्रभारी एवं क्षेत्राधिकारी स्तर से विवेचनाओं का निकट पर्यवेक्षण किया जाये जिससे विवेचनाओं की गुणवक्ता में सुधार हो तथा अपराधियों को न्यायालयों में सजा दिलायी जा सके और पीड़ित व्यक्ति/परिवार को न्याय मिल सके।

         6-         गैंगस्टर एक्ट एवं गुंडा एक्ट से सम्बन्धित अपराधिक  तत्वों का चिन्हिकरण कर उनके विरूद्ध कड़ी व प्रभावी निरोधात्मक कार्यवाही की जाये जिससे अपराधों पर नियन्त्रण स्थापित किया जा सके।

7-         थाने, जनपद एवं राज्य स्तर पर 3 layer  एन्टी ड्रग्स टास्क फोर्स का गठन करें, जिसमें सभी स्कूलों/कॉलेजों में एक-एक ड्रग अधिकारी नियुक्त किये जायें। ये अधिकारी, एन0जी0ओ0 के सदस्य  एन्टी ड्रग्स टास्क फोर्स से समन्वय स्थापित कर इस चुनौती से निपटने के लिए कार्य करें। टास्क फोर्स की थाने स्तर पर क्षेत्राधिकारी, जनपद स्तर पर जनपद प्रभारी एवं राज्य स्तर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ द्वारा मासिक समीक्षा किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

8-         राज्य में सड़क दुर्घटनओं की संख्या में वृद्धि पर चिन्ता व्यक्त करते हुये इसकी रोकथाम हेतु दुर्घटना सम्भावित क्षेत्र/बोटल नेक/ब्लैक स्पॉट स्थानों का चिन्हीकरण कर चेतावनी बोर्ड लगाये जाने एवं अऩ्य कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया।

9-           सड़क दुर्घटनाओं में रोकथाम हेतु ओवरलोडिंग, ओवरस्पीड, नशे में वाहन चलाने वालों पर (ड्रंक ड्राईविंग) एवं वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग करने वाले के विरूद्घ कठोर कार्यवाही किये जाने हेतु भी निर्देशित किया गया।

10-        जनपद प्रभारियों जीआरपी एवं आरपीएफ से समन्वय स्थापित कर रेलवे ट्रेकों की सुरक्षा करने हेतु निर्देशित किया गया।

11-       राज्य में गोवंश संरक्षण हेतु स्थापित दोनों परिक्षेत्रों में गोवंश संरक्षण स्क्वाड के पर्यवेक्षण हेतु परिक्षेत्र प्रभारियों को निर्देशित किया गया।

12-       अपराधी गैंग का पंजीकरण कर अपराधियों के विरूद्घ कठोर कार्यवाही की जाये व धोखधड़ी की विवेचना 03 माह के भीतर निस्तारित करते हुये जनशिकायतों की शीध्र निस्तारण किया जाये।

वीडियों कान्फ्रेसिंग के दौरान  अशोक कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था,  वी0 विनय कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अभिसूचना/सुरक्षा,  राम सिहं मीणा, अपर पुलिस महानिदेशक, प्रशासन,  संजय गुंज्याल, पुलिस महानिरीक्षक पी/एम,  अमित सिन्हा, पुलिस महानिरीक्षक संचार, ए0पी0 अंनशुमन, पुलिस महानिरीक्षक, पीएसी,  जी0 एस0 मार्तोलिया, पुलिस महानिरीक्षक मुख्यालय,  अजय रौतेला, पुलिस उपमहानिरीक्षक, गढ़वाल परिक्षेत्र,  केवल खुराना, निदेशक यातायात एवं श्रीमती रिधिम अग्रवाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0,उत्तराखण्ड सहित अन्य पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *