उत्तराखंड : 17 साल में पहली बार गैरसैंण में होगा राज्यपाल गैरसैंण में अभिभाषण

देहरादून, 09 फ़रवरी ! त्रिवेंद्र सरकार का दूसरा बजट सत्र गैरसैंण में 20 मार्च से शुरू होगा। राज्य गठन के 17 साल में यह पहला मौका होगा जब राज्यपाल गैरसैंण में अभिभाषण देंगे। 22 मार्च को वित्त मंत्री प्रकाश पंत वर्ष 2018-19 का बजट पेश करेंगे। 

गुरुवार को राजभवन ने सत्र की अधिसूचना जारी कर दी। सत्र 20 से 28 मार्च तक चलेगा। इस सत्र में एक दर्जन के करीब विधेयक पेश हो सकते हैं। सरकार कुछ अध्यादेश भी लाने जा रही है।बजट सत्र को लेकर पिछले कुछ दिनों से जारी ऊहापोह गुरुवार को खत्म हो गई। पहले माना जा रहा था कि फरवरी में तीन दिन तक सत्र देहरादून में होगा। बाकी मार्च के महीने में गैरसैंण में। बाद में सरकार ने राजभवन को भेजे कार्यक्रम में स्थिति स्पष्ट कर कर दी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि एक स्वस्थ और समावेशी बजट वो होता है जिसमें समाज के सभी वर्गों के सुझाव को शामिल किया जाए। इसलिए यह बेहद जरूरी है समाज के सभी वर्गों तक पहुंच कर उनके सुझाव लिए जाएं।

बजट सत्र का कार्यक्रम

20 मार्च:  राज्यपाल का अभिभाषण/विधानसभा अध्यक्ष अभिभाषण पढ़ेंगे
21 मार्च: अध्यादेश व अन्य महत्वपूर्ण ब्योरे सदन के पटल पर रखे जाएंगे।
22 मार्च: अभिभाषण पर चर्चा और धन्यवाद प्रस्ताव पारित होगा, बजट पेश
23 मार्च: बजट पर चर्चा, असरकारी दिवस
26 मार्च: बजट पर चर्चा, अनुदान मांगों पर चर्चा और मतदान, विधायी कार्य
27 मार्च: बजट पर चर्चा और मतदान के साथ उसे पारित कराया जाएगा
28 मार्च : विधायी कार्य

सत्र की शुरुआत मंगलवार 20 मार्च को गैरसैंण के भराड़ीसैंण स्थित विधानसभा भवन में राज्यपाल डॉ. कृष्णकांत पाल के अभिभाषण से होगी।

21 मार्च को अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा होगी। 22 मार्च को धन्यवाद प्रस्ताव पारित करने के साथ ही वित्त मंत्री प्रकाश पंत द्वारा वित्तीय वर्ष 2018-19 का बजट पेश किया जाएगा। 23 मार्च को बजट पर चर्चा होगी। 24 व 25 मार्च को शनिवार व रविवार का अवकाश रहेगा।

सोमवार 26 मार्च को बजट पर सामान्य चर्चा के साथ ही अनुदान मांगें प्रस्तुत की जाएंगी। 27 को अनुदान मांगों के साथ ही बजट पारित किया जाएगा। 28 मार्च को विधायी कार्य होंगे।

गौरतलब है कि इससे पहले सरकार ने 20 फरवरी से 23 फरवरी तक देहरादून में और फिर 14 से 22 मार्च तक गैरसैंण में बजट सत्र प्रस्तावित किया था। बाद में पूरा सत्र गैरसैंण में कराने का निर्णय लिया गया। अब इसे अंतिम रूप देते हुए अधिसूचना जारी कर दी गई है।

मुख्यमंत्री बजट के लिए जनता के बीच जाएंगे 

प्रदेश के बजट को अंतिम रूप देने से पहले मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत खुद जनता से राय लेंगे।  इस कार्यक्रम को ‘आपका बजट आपकी राय’ नाम दिया गया है। बजट से पहले छह चरणों में अलग-अलग क्षेत्रों से जुड़े लोगों के बीच जाकर मुख्यमंत्री अलग-अलग विषयों पर बजट के लिए लोगों के सुझाव मांगेंगे। उनमें से महत्वपूर्ण सुझावों को राज्य के बजट में शामिल किया जाएगा। सबसे पहले 13 फरवरी को यमुनोत्री में किसानों के बीच जाकर मुख्यमंत्री उनकी राय लेंगे। इसके बाद पिथौरागढ में महिलाओं, हरिद्वार में किसानों, हल्द्वानी में पूर्व सैनिक से सुझाव लेंगे। अंतिम दो चरणों में देहरादून में पहले एंटरप्रेन्योर्स और फिर युवाओं से संवाद कर बजट के लिए उनके सुझाव सुनेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *