आपकी नजरों ने समझा प्यार के काबिल मुझे … मदन मोहन कोहली पुण्यतिथि है आज

देश और दुनिया के इतिहास में 14 जुलाई

14 जुलाई के दिन देश विदेश में कई घटनायें , कई महान लोगों ने इस दुनिया को अलविदा किया है वैसे ही कई महान व्‍यक्तियों ने जन्‍म लिया होंगा। अगर आपको आज के इतिहास बारे में यानी 14 जुलाई के इतिहास के बारे में जानना है तो आपका ज्ञान बढ़ाने के लिए हम आपके लिए लाये हैं 14 जुलाई की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ, 14 जुलाई को जन्मे व्यक्ति, एवं 14 जुलाई को हुए निधन के बारे में जानकारी।

  • फिलिप II की मृत्यु के बाद उनके बेटे लुइस VIII फ्रांस के राजा 1223 में बने।
  • बेलग्रेड के युद्ध में हंगरी ने 1456 में ऑटोमन को पराजित किया।
  • फ्रांस एवं पुर्तागल ने 1536 में स्पेन के खिलाफ लियोंस के नौसैनिक समझौते पर हस्ताक्षर किए।
  • मुगल बादशाह शाहजहां ने 1636 में औरंगजेब को दक्कन का वायसराय नियुक्त किया।Image result for 14 जुलाई का इतिहास
  • फ़्रांसिसी क्रांति की शुरुआत 1789 में हुई।
  • अमेरिकी कांग्रेस ने 1798 में ‘राजद्रोह एक्ट’ को मंजूरी दी। इसके बाद सरकार के खिलाफ गलत या भ्रम फैलाने वाली बात लिखना, छापना या बोलना अपराध बन गया।
  • कृत्रिम तौर पर (मशीन द्वारा) जमाई गई बर्फ का पहला सार्वजनिक प्रदर्शन 1850 में हुआ।
  • न्यूजीलैंड में पहले आम चुनाव 1853 में हुए।
  • कॉट लिंग नामक अमरीकी व्यक्ति ने 1861 में मशीनगन बनाई।
  • अमेरिका के मोन्टाना प्रांत की राजधानी हेलेना में 1864 को सोने की खोज।
  • यूरोपीय गुट ने 1900 को चीन में बॉक्सर विद्रोहियों के कब्जे से तिएन्तसिन को वापस लिया।
  • पहले तरल ईंधन आधारित रॉकेट की डिजाइन का पेटेंट रॉबर्ट एच गोगार्ड ने 1914 में हासिल किया।
  • हवाई द्वीप में विमान की पहली व्यावसायिक उड़ान 1927 में शुरू हुई।
  • जर्मनी में नाजी पार्टी को छोड़ शेष सभी को गैरकानूनी घोषित किया गया और दमनकारी नीति की शुरूआत 1933 में हुई।
  • द्वितीय विश्वयुद्ध में जर्मनी के बमवर्षक विमानों ने 1940 में स्वेज पर बमबारी किया।
  • CBS चैनल पर घुड़दौड़ के रूप में किसी खेल कार्यक्रम का पहली बार रंगीन प्रसारण 1951 में किया गया।
  • इराक़ में जनरल अब्दुल करीम के विद्रोह के बाद राजशाही व्यवस्था का अंत और प्रजातंत्र की स्थापना 1958 में हुई।
  • मंगल के पास से गुजरने वाले नासा के अंतरिक्ष यान ने 1965 में किसी दूसरे ग्रह की पहली क्लोज अप तस्वीरें खींची।
  • जयपुर में 1969 को मालगाड़ी और पसेंजर ट्रेन की टक्कर में 85 लोगों की मौत।
  • अमेरिका के वित्त मंत्रालय और फेडरल रिजर्व सिस्टम ने 1969 में 500, 1,000, 5,000 और 10,000 डॉलर के नोटों का इस्तेमाल बहुत कम होने के कारण तुंरत प्रभाव से रोकने की घोषणा की।
  • तत्कालीन सोवियत संघ ने 1972 में भूमिगत परमाणु परीक्षण किया।
  • अमेरिका की डेमोक्रेटिक पार्टी ने 1976 में जिमी कार्टर को राष्ट्रपति का उम्मीदवार घोषित किया।
  • अमेरिका ने 1979 में अपना नाभिकीय टेस्ट किया।
  • ताइवान में 37 वर्षों के सैनिक शासन का अंत 1987 में हुआ।
  • सं.रा. अमेरिका ने 1996 में पाकिस्तान को ब्राउन संशोधन के अंतर्गत हथियार भेजने प्रारम्भ किये।
  • मेकरी मोरीटा पापुआ न्यू गिनी के प्रधानमंत्री 1999 को नियुक्त।
  • रूस की येलेना इसिनबायेवा ने 2003 में महिला पोल वाल्ट में नया विश्व रिकार्ड बनाया।
  • फ़िलिस्तीन के प्रधानमंत्री सलम फ़याद ने 2007 में अपने पद से इस्तीफ़ा दिया।
  • मिस्र की सरकार ने 2014 में इजरायल और गाजा के बीच जारी हिंसा को समाप्त करने के लिए संघर्ष विराम का प्रस्ताव रखा।
  • इंग्लैंड के चर्च ने 2014 में महिलाओं को भी बिशप बनाने के पक्ष में वोट किया।
  • नासा का न्यू हॉरिजन प्लूटो पर जाने वाला पहला अंतरिक्ष यान 2015 में बना।

14 जुलाई को जन्मे व्यक्ति

  • प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता गोपाल गणेश आगरकर का जन्म 1856 में हुआ था।
  • प्रसिद्ध राष्ट्र भक्त, स्वतंत्रता सेनानी और पत्रकार देशबंधु गुप्त का जन्म 1900 में हुआ था।
  • प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी और उत्तर प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री चन्द्रभानु गुप्त का जन्म 1902 में हुआ था।
  • प्रसिद्ध कम्युनिस्ट नेताओं में से एक और केरल के प्रथम मुख्यमंत्री ई. एम. एस. नमबूद्रिपद का जन्म 1909 में हुआ था।
  • नौवीं लोकसभा के सदस्य के. कालीमुत्तु का जन्म 1942 में हुआ था।
  • टेक्नोलॉजी क्षेत्र के दिग्गज और देश के बड़े उद्योगपति शिव नादर का जन्म 1945 में हुआ था।

14 जुलाई को हुए निधन 

  • 1975 – मदन मोहन कोहली जो की1 9 50, 1 9 60 और 1 9 70 के दशक के लोकप्रिय भारतीय संगीत निर्देशक थे। उन्हें हिंदी फिल्म उद्योग के सबसे कुशल संगीत निर्देशकों में से एक माना जाता है उनका 14 जुलाई को निधन हुआ

    मदनमोहन : आज सोचा तो आँसू भर आए…पुण्यतिथि (14 जुलाई) पर विशेष

    अपने जीवनकाल में सबसे बेहतर संगीत रचना करने और लता मंगेशकर जैसी गायिका से सर्वोत्तम गीत गवाने के बावजूद को जो लोकप्रियता उस दौर में मिलना थी, वह नहीं मिली। उन्हें उनकी मौत के बाद याद किया गया और उनके महत्व को समझा गया। 

    संगीत के बेताज बादशाह संगीत में मदनमोहन के बारे में संगीतकार खय्याम का कहना है कि वे संगीत के बेताज बादशाह थे। संगीत की‍ जितनी विविधताएँ होती हैं, उन सबका उन्हें गहरा ज्ञान एवं समझ थी। जबकि उन्होंने शास्त्रीय अथवा सुगम संगीत का बाकायदा कोई प्रशिक्षण नहीं लिया था। मदनमोहन अपनी रचनाओं के जरिये जो श्रोताओं को दे गए, वे अनमोल खजाने के समान है।

    सेना छोड़ ग्लैमर वर्ल्ड में > बॉम्बे टॉक‍िज फिल्म कंपनी के एक निर्दे‍शक रायबहादुर चुन्नीलाल कोहली के वे बेटे थे। चुन्नीलाल ने बाद में फिल्मिस्तान की नींव रखी और नामी फिल्मों के साथ कई सितारे फिल्माकाश को दिए। वे नहीं चाहते थे कि उनका बेटा ग्लैमर की इस दुनिया में कदम रखे, लेकिन फिल्मी दुनिया का आकर्षण मदनमोहन में इतना जबरदस्त था कि उन्होंने सेना की नौकरी छोड़कर ऑल इंडिया रेडियो (लखनऊ) ज्वॉइन कर लिया। यहाँ काम करते हुए उन्हें न केवल संगीत-राग रागिनियों का ज्ञान मिला, बल्कि देश के शास्त्रीय-सुगम गायक-गायिकाओं, वादक और संगीतकारों के सम्पर्क में आकर उन्होंने बहुत कुछ सीखा। गजल गायिका बेगम अख्तर और बरकतअली साहब का उन पर विशेष प्रभाव हुआ। बाद में फिल्मों में मौका मिलने पर मदनमोहन ने जो बंदिशें रची- ‘मैंने रंग दी आज चुनरिया’, ‘जिया ले गयो जी मोरा सांवरिया’, नैनों में बदरा छाए’ इन पर बरकतअली साहब का प्रभाव सीधे-सीधे देखा जा सकता है।
    बेगम अख्तर का प्रभाव 
    बेगम अख्तर की गजल गायन का प्रभाव भी मदनमोहन की बंदिशों में सुनने को मिलता है। कहा तो यहाँ तक जाता है कि मदनमोहन जैसी गजलों की रचना करने में कोई फिल्म संगीतकार सफल नहीं हुआ है। मदनमोहन की कुछ लाजवाब गजलें हैं- ‘उनको ये शिकायत है कि हम कुछ नहीं कहते’, ‘आज सोचा तो आँसू भर आए’, ‘आपकी नजरों ने समझा प्यार के काबिल मुझे’, ‘इसी में प्यार की आरजू’ और ‘हम प्यार में जलने वालों को चैन कहाँ, आराम कहाँ’।
    भीड़ से अलग चेहरा 
    अपने समकालीन संगीतकारों में मदनमोहन भीड़ में अपनी पहचान बनाने में कामयाब रहे, लेकिन उन्हें अधिक अवसर नहीं मिले। गीत की रचना और शब्दावली पर उनकी पैनी नजर रहती थी। वे पूरी निष्ठा और समर्पण के साथ गीतों को सुरबद्ध करते थे। पार्श्व गायकों के प्रति उनके मन में सम्मान होता था और आत्मीयता के साथ उनसे गवाते थे।
    मदन भैया 
    लताजी को वे सदैव बहन मानते थे और बदले में लताजी उन्हें सारे जीवन मदन भैया पुकारती रही। लताजी ने कहा था ‘दूसरे संगीतकारों ने मुझे गाने (साँग्स) दिए हैं, जबकि मदन भैया ने गाना (संगीत) दिया है।‘

  • प्रसिद्ध हिन्दी फ़िल्म अभिनेत्री लीला चिटनिस का निधन 2003 में हुआ था।
Jimmy Carterआज ही के दिन अमेरिका की डेमोक्रेटिक पार्टी ने जिमी कार्टर को राष्ट्रपति का उम्मीदवार घोषित किया

1965: मंगल के पास से गुजरने वाले नासा के अंतरिक्ष यान ने किसी दूसरे ग्रह की पहली क्लोज अप तस्वीरें खींची.

1933: नाजी पार्टी ने जर्मन नागरिकों का जबरन नसबंदी कार्यक्रम शुरू किया.

1976: अमेरिका की डेमोक्रेटिक पार्टी ने जिमी कार्टर को राष्ट्रपति का उम्मीदवार घोषित किया.

1223: फिलिप द्वितीय की मृत्यु के बाद उनके बेटे लुई फ्रांस के राजा बने.

1979: यूएसएसआर ने अपना नाभिकीय टेस्ट किया था.

1945: टेक्नोलॉजी क्षेत्र के दिग्गज और देश के बड़े उद्योगपति शिव नादर का जन्म 14 जुलाई को हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *