अवैध फैक्ट्री का पदार्फाश, आतंक फैलाने को बनाए जा रहे थे हथियार

आजमगढ़ :पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित पहले भी गिरफ्तार हो जेल जा चुके हैं. जमानत पर छूटने के बाद ये लोग फिर से इसी काम में लग गए थे. ये असलहे लोकसभा चुनाव के समय खपाने को बना रहे थे.

UP: illegal arms factory busted in Azamgarh four arrested with 23 guns
आजमगढ़: उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के जहानागंज थाना क्षेत्र के एक गांव में चल रही अवैध हथियार फैक्ट्री का पदार्फाश करते हुए पुलिस ने भारी मात्रा में हथियारों की बरामदगी की. साथ ही मौके से चार तस्करों को भी गिरफ्तार किया, जिनसे पूछताछ जारी है. पुलिस का कहना है कि आरोपित लोकसभा चुनाव के समय आतंक फैलाने के लिए हथियार तैयार कर रहे थे.

Embedded video

AZAMGARH POLICE
@azamgarhpolice

अवैध शस्त्र बनाने की फैक्ट्री का पर्दाफाश व भारी मात्रा में शस्त्रों की बरामदगी, @azamgarhpolice @digazamgarh @adgzonevaranasi @uppolice @news18up

पुलिस अधीक्षक प्रोबेशनरी. त्रिवेणी सिंह ने सोमवार को बताया कि जहानागंज थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने मुखबिर की सूचना पर जहानागंज थाना क्षेत्र के महुआमुरारपुर गांव के पास नाले में चल रही अवैध हथियार फैक्ट्री पर छापेमारी की, जहां से पकड़े गए दो बदमाश भरत सिंह व परदेशी नाले में भट्ठी जलाकर अवैध तमंचा बना रहे थे. उन लोगों से मिली जानकारी पर टीम ने सिधारी थाना क्षेत्र के मूसेपुर रेलवे क्रॉसिंग के पास खड़े होकर ग्राहक का इंतजार कर रहे दो और आरोपितों जुगनू दीक्षित उर्फ रामसागर और चंदन शुक्ला को गिरफ्तार किया। चारों आरोपितों के पास से 23 तैयार तमंचे, कई कारतूस और भारी मात्रा में तमंचा बनाने का उपकरण, लोहे की भट्ठी आदि बरामद हुए.
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित पहले भी गिरफ्तार होकर जेल जा चुके हैं. जमानत पर छूटने के बाद ये लोग फिर से इसी काम में लग गए थे. लोकसभा चुनाव के समय खपाने के लिए ये असलहे बना रहे थे. पुलिस उनके गिरोह से जुड़े अन्य सदस्यों का पता लगा रही है.पुलिस अधीक्षक प्रोबेशनरी त्रिवेणी सिंह के निर्देश पर चलाए जा रहे अभियान के क्रम में जहानागंज थानाध्यक्ष व स्वाट टीम प्रभारी ने रविवार की देर शाम को संयुक्त रूप से महुआ मुरारपुर गांव में छापा मारकर अवैध रूप से संचालित तमंचा बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया। पुलिस ने मौके से 16 अदद निर्मित, एक अ‌र्द्धनिर्मित तमंचा, कारतूस, तमंचा बनाने का अन्य उपकरण बरामद किया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जहानागंज थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह व स्वाट टीम प्रभारी राजेश कुमार उपाध्याय अपने सहयोगी पुलिसकर्मियों के साथ 20 फरवरी को भदया गांव में हुई हत्या के संबंध में रविवार की शाम को जहानागंज बाजार में खड़े होकर आपस में बात कर रहे थे। उसी दौरान मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर उन्होंने महुआ मुरारपुर गांव के सरहद पर स्थित नाले के पास संयुक्त छापा मारा। छापे के दौरान पुलिस की संयुक्त टीम ने अवैध तमंचा बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया।  इस मामले में लिप्त भरत सिंह (पुत्र स्वर्गीय. मुखनाथ सिंह ग्राम सर्फुद्दीनपुर) व परदेशी (पुत्र महंगू राम ग्राम चकमिश्रौली सर्फुद्दीनपुर थाना शहर कोतवाली ) के निवासी बताए गए हैं। पुलिस अधीक्षक का कहना है कि गिरफ्तार किए गए दोनों व्यक्ति असलहा बनाने में माहिर हैं। एक कारीगर एक दिन में चार से पांच असलहा तैयार कर लेता है। वे पांच से छह हजार रुपये में एक तमंचा बेचते हैं। जो इनसे असलहा खरीदकर ले जाते हैं वे आठ से दस हजार रुपये में बिक्री करते हैं। इस कारोबार में कितने लोग शामिल हैं इसकी तस्दीक कराई जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *