अमेरिका से रवाना हुआ प्रकाश पंत का पार्थिव शरीर,आज सुबह 10 बजे पहुंचेगा दून

 अमेरिका से रवाना हुआ प्रकाश पंत का पार्थिव शरीर, शनिवार सुबह 10  बजे पहुंचेगा दूनETV

शुक्रवार को पंत के पार्थिव शरीर को भारत लाने की तैयारियां तेज हुई. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के विशेष आग्रह पर पंत के पार्थिव शरीर को विशेष विमान से देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट लाया जाएगा. जिसके लिए शुक्रवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ पंत का पार्थिव शरीर एयरपोर्ट लाया गया.

देहरादून: प्रदेश की राजनीति में ‘प्रकाश’ पुंज के तौर पर जाने जाने वाले प्रखर नेता और भाजपा के दिवंगत नेता प्रकाश पंत के पार्थिव शरीर को भारत लाने की तैयारियां तेज हो गई हैं. शुक्रवार को पंत के परिजन उनके पार्थिव शरीर के साथ अमेरिका से भारत के लिए रवाना हुए. तिरंगे में लिपटे पंत के पार्थिव शरीर को एयरपोर्ट पर सैन्य सम्मान के साथ विदाई दी गई. इस दौरान उनकी पत्नी, बेटी और उनके भाई समेत एक अन्य पारिवारिक सदस्य वहां मौजूद रहे.

अमेरिका से रवाना हुआ प्रकाश पंत का पार्थिव शरीर

प्रकाश पंत के निधन के बाद से ही हर कोई अपने चहेते नेता के आखिरी दर्शन कर खुद को धन्य कर लेना लेना चाहता है. बीते बुधवार को पंत ने कैंसर की बीमारी से जंग लड़ते हुए अमेरिका के टेक्सास  अस्पताल में दम तोड़ दिया था. जिसके बाद से ही प्रदेश में शोक की लहर है. शुक्रवार को पंत के पार्थिव शरीर को भारत लाने की तैयारियां तेज हुईं

भाजपा मीडिया प्रभारी डाक्टर देवेन्द्र भसीन के अनुसार अमेरिका से पंत का पार्थिव शरीर सुबह 10 बजे जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचेगा. इसके बाद पंत के पार्थिव शरीर को एसडीआरएफ मुख्यालय में अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रकाश पंत की अंत्येष्टि में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शामिल हो सकते हैं. उनके अंतिम संस्कार में केंद्रीय सह महामंत्री संगठन शिव प्रकाश, प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट समेत सरकार के कई मंत्री, विधायक, पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित रहेंगे.

पंत के पार्थिव शरीर को देखकर भावुक हुए भाई भूपेश, अपलक निहार कर करते रहे ‘शिकायत’

ETV

शुक्रवार को पंत के परिजन उनके पार्थिव शरीर के साथ अमेरिका से भारत के लिए रवाना हुए. इससे पहले तिरंगे में लिपटे पंत के पार्थिव शरीर को एयरपोर्ट लाया गया. इस दौरान अमेरिका के एयरपोर्ट से जो तस्वीरें सामने आई वो सबको भावुक कर गई. तस्वीर में प्रकाश पंत के भाई भूपेश उनके पार्थिक शरीर को एकटक देख रहे हैं.

 पंत के अंतिम समय में उनकी पत्नी, बेटी और भाई भूपेश पंत उनके साथ चट्टान की तरह खड़े रहे. लेकिन पंत के निधन से मजबूत खड़ी ये चट्टान मानों पल भर में बिखर गई. पंत के परिजनों को यकीन ही नहीं हो रहा है कि उनके और सबके चहेते ‘प्रकाश’ उन्हें यूं अकेला छोड़ कर चले गये हैं. ऐसी ही एक तस्वीर अमेरिका के एयरपोर्ट से सामने आई है, जहां प्रकाश पंत के भाई तिरंगे में लिपटे पंत के पार्थिव शरीर को अपलक निहार रहे हैं. उन्हें देखकर साफ तौर पर कहा जा सकता है कि पंत के यूं चले जाने पर वे अब भी विश्वास नहीं कर पा रहे हैं.

पंत के पार्थिव शरीर को देखकर भावुक हुए भाई भूपेश

भूपेश को देख कर लग रहा है मानों वे ‘प्रकाश’ के इंतजार में खड़े हो. वो ‘प्रकाश’ जिसने जीवन की हर कठिनाई को बड़ी आसानी से जीने का तरीका सिखाया. एयरपोर्ट पर पंत के पार्थिव शरीर को देखकर भावुक हुए भाई की भावनाओं को वहां मौजूद हर कोई शख्स समझ रहा था. यही कारण था कि इस दौरान वहां सभी की आंखें नम थीं. भूपेश पंत को देखकर लग रहा था कि मानों वे इस समय अपने और हर दिल अजीज भाई से सारी बातें कर लेना चाहते हैं. मानों वे बता देना चाहते हों कि ‘प्रकाश’ के जाने के बाद उनके जीवन में अंधेरा छा जाएगा. वे एकदम अकेले हो जाएंगे. भूपेश नम आंखों से पंत के पार्थिव शरीर को निहारते हुए खुद में ही जज्ब होते नजर आ रहे हैं. पूरी दुनिया से बेखबर भूपेश भाई से यूं असमय जाने की शिकायत करते हुए जज्बाती दिख रहे हैं.

‘प्रकाश’ के आने की राह देख रही पिथौरागढ़ की जनता, रो-रोकर बुरा हाल

ETV

कैबिनेट मंत्री प्रकाश पंत के निधन पर उनके गृह जनपद पिथौरागढ़ में शोक की लहर है. बीते दिन कैंसर की बीमारी से अमेरिका में इलाज के दौरान प्रकाश पंत का निधन हो गया था. शोक सभा में अनेक महिलाएं रोती बिलखती रहीं.

 सूबे के वित्त मंत्री प्रकाश पंत के निधन पर मंगलवार को संपूर्णानंद पार्क में शोकसभा आयोजित हुई. विभिन्न संगठनों के साथ ही भाजपा नेताओं ने प्रकाश पंत को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की. शोकसभा में पार्टी कार्यकर्ता अपने प्रिय नेता को श्रद्धांजलि देते हुए रोते-बिलखते नजर आए.

राज्य के वित्त मंत्री प्रकाश पंत के निधन पर कार्यकर्ताओं ने श्रद्धांजलि दी.

कैबिनेट मंत्री प्रकाश पंत के निधन पर उनके गृह जनपद पिथौरागढ़ में शोक की लहर है. बीते दिन कैंसर की बीमारी से अमेरिका में इलाज के दौरान प्रकाश पंत का निधन हो गया था.

गौरतलब है कि पिथौरागढ़ विधानसभा से पंत तीन बार के विधायक रहे हैं. सूबे के कद्दावर नेताओं में शुमार प्रकाश पंत अपने सौम्य व्यवहार और कुशल नेतृत्व के लिए जाने जाते रहे हैं. यही वजह है कि आज उनके निधन पर पूरा भाजपा परिवार शोक में डूबा हुआ है. पंत अपने पीछे बूढ़े माता-पिता, पत्नी, 2 बेटियां और 1 बेटे को छोड़ गए है.

 माता-पिता को नहीं पता दुनिया छोड़ कर चला गया उनका लाल

ETV
 बुधवार को उत्तराखंड सरकार में संसदीय कार्य, वित्त और आबकारी जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल रहे 58 वर्षीय पंत का अमेरिका में उपचार के दौरान निधन हो गया था. पंत के परिवार में उनके माता-पिता, पत्नी, दो पुत्रियां और एक पुत्र है.

उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत के निधन की खबर से जहां पूरा प्रदेश शोक में डूबा हुआ है, तो वहीं उनके बूढ़े माता-पिता को इसकी जानकारी भी नहीं है कि उनका लाल अब इस दुनिया में नहीं रहा. ये खबर फिलहाल उन से छुपाकर रखी गई है.

पिता मोहन चंद्र पंत और माता कमला पंत को इस हादसे का पता न चले इसके लिए पंत के आवास का लैंडलाइन फोन बुधवार को ही काट दिया गया था. इसके अलावा गुरुवार को उनके टीवी का केबल भी हटा दिया गया है. इतना ही नहीं घर में अखबार भी नहीं पहुंचने दिया जा रहा है. किसी बाहरी व्यक्ति को घर भी नहीं जाने दिया जा रहा है.

प्रकाश पंत के बड़े भाई कैलाश पंत पिता से मिले पर वे भी उन्हें पंत के निधन की जानकारी देने की हिम्मत नहीं जुटा पाए. हालांकि उनके माता-पिता को प्रकाश पंत की तबियत बिगड़ने की सूचना जरुर है.

कैलाश पंत ने बताया कि प्रकाश पंत का पार्थिव शरीर शनिवार को पिथौरागढ़ पहुंच सकता है. माता-पिता दो दिनों तक ये सदम कैसे झेल पाएंगे? इस वजह से उन्हें अभी तक सूचना नहीं दी गयी है. ऐहतियात के तौर पर पंत के आवास में जिला अस्पताल के डॉक्टर तैनात थे. डॉक्टरों ने प्रकाश पंत के पिता का बीपी वगैरह चेक किया. वित्त मंत्री प्रकाश पंत के निधन के बाद से उनके रिश्तेदार और करीबियों का रो-रो कर बुरा हाल है.

बात दें कि बुधवार को उत्तराखंड सरकार में संसदीय कार्य, वित्त और आबकारी जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाल रहे 58 वर्षीय पंत का अमेरिका में उपचार के दौरान निधन हो गया था. पंत के परिवार में उनके माता-पिता, पत्नी, दो पुत्रियां और एक पुत्र है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *