अब सभी मदरसों पर योगी सरकार की पैनी नजर

बिजनौर में मदरसे से हथियार बरामद होने के बाद राज्य सरकार ने किया मदरसों पर निगरानी का निर्णय, जिला अल्पसंख्यक अधिकारियों से प्रदेश में मौजूद सभी निजी और सरकारी मदरसों की जानकारियों मंगवाईं. वहीं दूसरी तरफ मदरसा संचालक सरकार के इस निर्णय का विरोध कर रहे हैं. सरकार का कहना है कि मदरसों की गुणवत्ता को लेकर हमेशा से ही काम करते आए हैं. (फाइल फोटो)
उत्तर प्रदेश में अब मदरसों पर सरकार की खास नजर होगी. मदरसों से संबंधित सभी डीटेल सरकार के पास मौजूद होगी और इन पर निगरानी भी रखी जाएगी. सरकार ने यह निर्णय बिजनौर के एक मदरसे से हथियार बरामद होने के बाद लिया है. हथियारों की बरामदगी के बाद मदरसों की गुणवत्ता पर सवाल उठ रहे थे. यहां तक की कुछ लोगों ने ऐसे मदरसों को बंद तक करने की अपील की थी. लेकिन अब सरकार ने रास्ता निकालते हुए मदरसों की मॉनिटरिंग का फैसला किया है.

मदरसों में पढ़े बच्चे भी बनें आईएएस, डॉक्टर और इंजीनियर

मदरसों की निगरानी के संबंध में राज्य मंत्री मोहसिन रजा राज्यमंत्री मोहसिन रजा के लिए इमेज परिणामने कहा कि हम हमेशा से ही मदरसों की गुणवत्ता पर काम करते रहे हैं. सरकार की कोशिश है कि मदरसे में पढ़ने वाले बच्चे भी आईएएस, डॉक्टर, इंजीनियर बन सकें. इसके लिए हम लगातार इस तरफ ध्यान दे रहे हैं. मदरसों में एनसीईआरटी की किताबें लागू करने के साथ ही सभी आधुनिक सुविधाएं वहां पर उपलब्‍ध करवाने का काम सरकार कर रही है.

मांगी सभी मदरसों की जानकारी

सूचना के अनुसार सरकार ने प्रदेश में मौजूद सभी मदरसों की जानकारी जिला अल्पसंख्यक अधिकारियों से मांगी है. अधिकारियों को निजी और सरकारी सभी मदरसों की पूर्ण जानकारी देनी होगी. इस दौरान मोहसिन ने कहा कि सूबे में कई मदरसे ऐसे हैं जो मानकों को पूरा नहीं करते हैं और इनका बंद होना जरूरी है. सरकार ऐसे मदरसों पर पूर्ण तौर पर अंकुश लगाएगी.

मदरसा संचालकों ने किया विरोध
वहीं सरकार के ‌इस फैसले के खिलाफ मदरसा संचालक आ गए हैं. उनका कहना है कि बिजनौर में जो हुआ वह गलत था और ऐसे में कार्रवाई होनी जरूरी है. लेकिन एक मदरसे के नाम पर सभी मदरसों को निशाना बनाना गलत है. मदरसा संचालक मौलाना हारून ने कहा कि सरकार की नजर में सिर्फ मदरसे ही खटकते हैं इसलिए घूमफिर कर मदरसों को ही एजेंडा बनाया जाता है. जबकि सरकार को चाहिए कि मदरसों के हालात बेहतर करने के जो वादे किए गए थे उन्हें पूरा किया जाए.

मदरसा असलाह प्रकरण में छह आरोपितों का रिमांड मिलामदरसा असलाह प्रकरण में छह आरोपितों का रिमांड मिला

शेरकोट के मदरसा में असलाह बरामद प्रकरण में जेल गए आरोपितों से पूछताछ के लिए कोर्ट ने छह आरोपितों का 72 घंटे का पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर किया है।

शेरकोट के मदरसा में असलाह बरामद प्रकरण में जेल गए आरोपितों से पूछताछ के लिए कोर्ट ने छह आरोपितों का 72 घंटे का पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर किया है। रिमांड की अवधि बुधवार सुबह 10 बजे से शुरू होगी। आइबी, एटीएस और पुलिस की टीम आरोपितों से कड़ी पूछताछ करेंगी।

पुलिस ने 10 जुलाई को शेरकोट के मदरसा दारुल कुरान हमीदिया में छापा मारकर दवा के डिब्बे से एक पिस्टल, दो मैगजीन, चार तमंचे और 24 कारतूस बरामद किए थे। पुलिस ने मदरसा संचालक मो. साजिद, रसोइया अजीजुर्रहमान, उसके बेटे फहीम अहमद निवासी मोहल्ला शेखान स्योहारा, जफर इस्लाम, शिक्षक सिकंदर अली और मो. शाबिर को गिरफ्तार किया था। मुख्य आरोपित आरिफ व आसिफ फरार हैं। जांच एजेंसियों ने जेल में आरोपितों के बयान दर्ज किए। एटीएस के अधिकारियों ने भी मदरसे में जांच-पड़ताल की थी। जांच में यह भी पता चला कि खतौनी में मदरसा की जमीन किसान के नाम अंकित है।

आरोपितों के बयान के आधार पर पुलिस ने कोर्ट में प्रार्थना-पत्र देकर आरोपितों का कस्टडी रिमांड मांगा। सीओ अफजलगढ कृपाशंकर सक्सेना ने बताया कि कोर्ट ने उक्त छह आरोपितों का 72 घंटे का पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर किया है। बुधवार सुबह दस बजे आरोपितों को जेल से रिमांड पर लेकर जांच एजेंसियों के अधिकारी पूछताछ करेंगे। यह भी पता लगाया जायेगा कि मदरसे में हथियार कहां से आए और आरोपितों का मकसद क्या था।

मदरसे में छापामारी, दवाइयों के डिब्‍बे में छिपे मिले अवैध हथियारबिजनौर के मदरसे में छापामारी, दवाइयों के डिब्‍बे में छिपे मिले अवैध हथियारबिजनौर में मदरसा में छापेमारी कर पुलिस ने हथियार बरामद किए। साथ ही छह लोगों को हिरासत में लिया। पुलिस ने मस्जिद के अलावा एक घर में भी छापा मारा।

 शेरकोट थाना क्षेत्र में कंदला रोड पर पुलिस ने बुधवार दोपहर एक मदरसे और एक मकान में छापा मारा। इस दौरान मकान में तो कुछ नहीं मिला, लेकिन मदरसे में पुलिस ने बड़ी मात्रा में हथियार बरामद किए हैं। बरामद हथियार में एक पिस्तौल, दो मैग्जीन, चार तमंचे और 24 कारतूस बरामद हैं। इस दौरान पुलिस ने मदरसा संचालक सहित छह लोगों को हिरासत में लिया है।

पुलिस बल रहा तैनात
शेरकोट में पुलिस ने बुधवार दोपहर कंदला रोड पर एक मदरसे में भी छापामारी की गई। छापेमारी में पुलिस को मदरसे की तलाशी के दौरान एक पिस्तौल, दो मैग्जीन, चार तमंचे और 24 कारतूस मिले। पुलिस ने मदरसे से छह लोगों को हिरासत में लिया। जिसमें मदरसे का संचालक मौहम्मद साजिद (35) पुत्र अब्दुल हमीद निवासी मनिहारन शेरकोट, फहीम अहमद (26) निवासी मोहल्ला शेखान स्योहारा, जफर इस्लाम पुत्र अब्दुल लतीफ निवासी मोहल्ला अफगानान धामपुर, सिकंदर अली (38) पुत्र नूर ईलाही निवासी मोहल्ला मनोहरवाली भूतपुरी अफजलगढ़, मौहम्मद शाहित पुत्र इकबाल (22) निवासी गांव जोनिहार बिहार और अजीजुर्रहमान (60) पुत्र अफजुल रहमान निवासी शेखान स्योहारा शामिल हैं। इसके बाद मोहल्ला नोंदला में आरिफ के मकान में छापा मारा, जिसमें पुलिस को कुछ नहीं मिला। इस दौरान भारी पुलिस बल तैनात रहा।

दवाइयों के डिब्बे में रखे थे हथियार 
पुलिस का कहना है कि आरिफ तांत्रिक का काम भी करता है। बताया गया है कि मदरसे में एक सेफ में दवाइयों के डिब्बे रखे थे, इन्हीं में से हथियार मिले हैं। सीओ कृपा शंकर कनौजिया का कहना है कि पुलिस को सूचना मिली थी मदरसे में कुछ बाहरी लोगों का आना जाना है, इसी आधार पर छापेमारी की गई है।

मदरसे में मिले हथियारों की तस्करी के तार बिहार से जुड़े

शुरुआती जांच में यह मामला हथियार तस्करी से जुड़ा माना जा रहा है जिसके तार बिहार तक जुड़ रहे हैं। इस तस्करी में मदरसा संचालक मोहम्मद साजिद निवासी मनिहारान शेरकोट को मुख्य कड़ी माना जा रहा है।
आज हो सकती है प्रेस कॉन्फ्रेंस
साजिद ही बिहार के कुछ लोगों के संपर्क में था और उसने धामपुर, स्योहारा व अफजलगढ़ आदि क्षेत्रों के भी कुछ लोगों को अपने साथ जोड़ रखा था। फिलहाल पुलिस इन सभी जगहों पर भी छापेमारी और पूछताछ कर रही है। साजिद के अलावा इस मामले में पांच अन्य लोगों को भी हिरासत में लिया गया था, जिसमें बिहार के जिला अररिया का निवासी मोहम्मद साबिर पुत्र इकबाल भी शामिल है। फिलहाल पुलिस इस मामले में मुकदमा दर्ज कर आगे की के कार्रवाई कर रही है। सूत्रों के मुताबिक गुरुवार दोपहर जिला मुख्यालय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस हो सकती है। फिलहाल पुलिस शेरकोट से लेकर बिहार तक के कई कड़ियों को जोड़ने का प्रयास कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *